Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: मेरठ में हुई लड़ाई के वीडियो को उत्तराखंड में कावंड़ियों की झड़प के दौरान फौजी की हुई मौत का बताकर किया वायरल, पढ़ें पूरा सच 

0 823

फैक्ट चेक: मेरठ में हुई लड़ाई के वीडियो को उत्तराखंड में कावंड़ियों की झड़प के दौरान फौजी की हुई मौत का बताकर किया वायरल, पढ़ें पूरा सच 

 

सोशल मीडिया पर कुछ कावंड़ियों का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में कावंड़ियों का एक डीजे ट्रक भी नजर आरहा है। इसी ट्रक में एक युवक पीछे लटका हुआ है। वीडियो में कुछ कावंड यात्री डीजे ट्रक के पीछे लटकने वाले युवक को थप्पड़ों व डंडों से पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसी वीडियो को इंटरनेट पर वायरल कर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो रुड़की के मंगलौर इलाके में यूपी-हरियाणा के कांवड़ियों के बीच हुए संघर्ष का है जहां सिर में डंडा लगने से मुजफ्फरनगर में सिसौली के कांवड़िए ‘कार्तिक बालियान’ जो सेना के सैनिक थे उनकी मौत हो गयी।

दरअसल कुछ दिन पहले रुड़की के मंगलौर कोतवाली क्षेत्र में डाक कांवड़ की भागम-भाग के दौरान आगे निकलने की होड़ में हरियाणा और यूपी के कांवड़ियों के बीच झगड़ा हो गया, जिसके बाद दोनों गुटों में लाठी-डंडे और हॉकी से जमकर मारपीट हुई।  इस दौरान एक कांवड़िए की मौत हो गई। मृतक उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का रहने वाला था और जाट रेजिमेंट का जवान था।

इसी घटना से जोड़कर उक्त वीडियो को शयर किया जा रहा है। वीडियो को फेसबुक पररुड़की के मंगलौर इलाके में यूपी-हरियाणा के कांवड़ियों में संघर्ष.. सिर में डंडा लगने से मुजफ्फरनगर में सिसौली के कांवड़िए कार्तिक बालियान की मौत। वह सेना में फौजी भी था। डाक कांवड़ आगे निकालने को लेकर विवाद हुआ था।’ 

 

फेसबुक लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने पाया कि वायरल वीडियो मेरठ में हुई झड़प का है इसका रुड़की के मैंगलोर में हुई घटना से कोई संबंध नहीं हैं।

दरअसल, रुड़की में मंगलोर में हुई घटना में आगे बढ़ने की होड़ थी जिसके चलते एक कावंड यात्री की जान गयी, लेकिन वायरल वीडियो में एक व्यक्ति जो डीजे की ट्रक में लटका हुआ था कावंड़िए उसकी पिटाई कर रहे थे, इसलिए वायरल वीडियो के साथ शेयर हो रहे दावे को पढ़ने पर हमें शक हुआ, जिसके चलते हमने वीडियो की पड़ताल की।

पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को InVid टूल की सहायता से कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। हालांकि इस दौरान हमें कोई सटीक परिणाम नहीं मिला। इसके बाद हमने गूगल पर कुछ संबंधित कीवर्ड्स की सहायता ली। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो से मेल खाती एक तस्वीर अमर उजाला की वेबसाइट पर जुलाई 25,2022 को छपी एक रिपोर्ट में मिली।

 

रिपोर्ट के मुताबिक, मेरठ जनपद में हापुड़ रोड पर खरखौदा स्थित लोहिया फार्म हाउस में लगाए गए शिविर संचालक व हापुड़ क्षेत्र के कावड़ियों में डीजे बजाने को लेकर जमकर कंपटीशन हुआ। इसके बाद दोनों पक्षों में मारपीट हुई। कई घंटे तक बाद में पुलिस व स्थानीय लोगों ने हस्तक्षेप करने के बाद मामले को संभाला तथा कावड़ियों को गंतव्य की ओर भेजा।

इसके बाद हमें इस मामले में पंजाब केसरी नामक यूट्यूब चैनल पर अपलोड की गयी एक रिपोर्ट में भी वायरल वीडियो क्लिप मिली। प्राप्त यूट्यूब रिपोर्ट में जानकारी दी गयी है कि यह वीडियो मेरठ जनपद में हापुड़ रोड के खरखौदा थाना क्षेत्र का है।

इसके बाद हमने खरखौदा थाना में सीधा संपर्क किया। इस दौरान हमारी बात खरखौदा थाना इंचार्ज से हुई, जहाँ उन्होंने हमें बताया कि ये घटना लोहिया फार्म हाउस के पास की है। इस दौरान किसी भी कावंड़िए की मृत्यु नहीं हुई। पुलिस ने बताया कि दोनों पक्षों में डीजे कॉम्पिटिशन को लेकर मार पीट हुई थी। पुलिस ने यह भी कहा कि इस मामले को रिपोर्ट दर्ज नहीं की गयी।