Hindi Newsportal

छह आतंकवादी गिरफ्तार: नवरात्र-दशहरा और दिवाली पर देश को दहलाने की थी योजना; अब 14 दिन की पुलिस रिमांड में भेजे गए

0 536

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए छह आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से दो आतंकी हाल में पाकिस्तान से प्रशिक्षण लेकर लौटे हैं। ये आतंकी दिल्ली, महराष्ट व यूपी को दहलाने की साजिश रच रहे थे।

इन राज्यों से गिरफ्तार हुए संदिग्ध आतंकी, यह सब भी हुआ बरामद।

मिली जानकारी के मुताबिक इन संदिग्धों को उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है और इनके पास से हथियार और गोला बारूद भी बरामद किया गया है। इस बड़ी कामयाबी के बाद पुलिस ने कहा है कि पाकिस्तान स्थित अनीस इब्राहिम, जो दाऊद इब्राहिम का भाई है, आतंकी योजना को अंजाम देने के लिए अंडरवर्ल्ड के गुर्गों से जुड़ा था और फंडिंग भी यही कर रहा था। पुलिस ने आगे जानकारी दी कि पूछताछ से पता चला है कि पाकिस्तान के आतंकी मॉड्यूल को दो घटकों अंडरवर्ल्ड और पाक-आईएसआई प्रशिक्षित आतंकी मॉड्यूल के माध्यम से संचालित किया जा रहा था ।

छह राज्यों के 15 बड़े शहर में बम धमाके की थी साजिश।

रिपोर्ट्स के मुताबिक आतंकियों ने दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र सहित छह प्रदेशों के 15 बड़े शहरों को निशाना बनाया था और इन सब की इन शहरों में सीरियल ब्लास्ट करने की साजिश थी।

अभी कई बड़े खुलासे संभव।

आतंकियों ने इसकी बड़ी रणनीति तैयार की थी जिसके तहत आतंकियों को उनके काम और टारगेट की पूरी जानकारी दे दी गयी थी। जिन 6 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है उनका नाम अबू बकर, ओसामा, मूलचंद, ज़ीशान, आमिर और जान मोहम्मद है।

पाकिस्तान ने दी आतंक की ट्रेनिंग।

इधर गिरफ्तार आतंकी ओसामा से पूछताछ में कई बातों का खुलासा हुआ है।आतंकी ने इस बात की जानकारी दी है कि 22 अप्रैल, 2021 को सलाम एयर की फ्लाइट से लखनऊ से मस्कट, ओमान के लिए रवाना हुआ था। यही पर इलाहाबाद निवासी जीशान उसका इंतजार कर रहा था। फिर जीशान पाकिस्तान में बम बनाने, हथियार चलाने समेत आतंक के प्रशिक्षण में शामिल हुआ। इतना ही नहीं, उसके साथ 15-16 बांग्ला बोलने वाले लोग भी शामिल थे।

जीशान और ओसामा थे एक ग्रुप में।

आतंकी ओसामा ने पुलिस को यह भी जानकारी दी कि जीशान और ओसामा को एक ग्रुप में रखा गया था। कई दिनों तक वह छोटी समुद्री यात्रा पर रहे। जिसके बाद आतंकियों को ग्वादर बंदरगाह, पाकिस्तान के पास स्थित शहर जियोनी ले जाया गया। यहां उन्हें कथित तौर पर एक फॉर्म हाउस में रखा गया जिसके बाद यहां पाकिस्तानी सेना के अधिकारियों ने उन्हें हथियार चलाने, बम बनाने सहित कई चीजों की ट्रेनिंग दी। यहीं पर उनका प्रशिक्षण करीब 15 दिनों तक चला और इसी रास्ते से उन्हें मस्कट वापस लाया गया। इतना ही नहीं, यहीं से उन्हें भारत के अलग- अलग शहरों को दहलाने के लिए भेज दिया गया।

कैसे हुआ पर्दाफाश?

दिल्ली पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर ने बताया कि केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट मिले थे कि एक पाक-प्रेरित और प्रायोजित संस्थाओं का समूह भारत में सीरियल आईईडी विस्फोटों को अंजाम देने की योजना बना रहा है और बम धमाकों के लिए सीमा पार से तैयारी की जा रही है। ये भी पता लगा कि ये आंतकियों के इस मॉड्यूल का नेटवर्क दिल्ली, यूपी व महाराष्ट्र समेत देश के कई हिस्सों में फैला हुआ है।

अलग- अलग राज्यों में हुई छापेमारी।

इन इनपुट्स को देखते हुए एसीपी ललित मोहन नेगी व हृदय भूषण की देखरेख में इंस्पेक्टर सुनीज राजैन, इंस्पेक्टर रविन्द्र जोशी व विनय पाल की विशेष टीम बनाई गई। देश में एक साथ कई जगह तलाशी अभियान चलाया गया। कई टीमों को मुंबई में महाराष्ट्र और लखनऊ, प्रयागराज, राय-बरेली, प्रतापगढ़, यूपी में एक साथ भेजा गया। 14 सितंबर, 2021 को मानव के साथ-साथ तकनीकी नोड्स के माध्यम से एकत्र की गई खुफिया जानकारी के आधार पर विभिन्न राज्यों में एक साथ छापेमारी की गई।

और .. ऐसे पकडे गए आतंकी।

दिल्ली पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर के मुताबिक सबसे पहले अंडरवर्ल्ड से जुड़े सोशल नगर, मुंबई महाराष्ट्र निवासी जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया (47) को राजस्थान के कोटा के पास से गिरफ्तार किया गया। जान मोहम्मद दिल्ली आ रहा था। इसके बाद ओखला जामिया नगर निवासी ओसामा उर्फ समी (22) को ओखला, दिल्ली से पकड़ा गया। इसके बाद बहराइच यपू निवासी मोहम्मद अबू बकर (23) को सराय काले खां, दिल्ली से, कारेली, इलाहाबाद यूपी निवासी जीशान कमर (28) को इलाहाबाद, यूपी से, बकशिका लखनऊ, यूपी निवासी मोहम्मद आमिर जावेद (31) को लखनऊ, यूपी से और राय बरेली, यूपी निवासी मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला (47) को रायबरेली, यूपी से पकड़ा गया है।

14 दिन की रिमांड पर है आतंकवादी।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को गिरफ्तार किए गए छह में से चार कथित आतंकियों को रात में अदालत में पेश किया था। अदालत में पेशी के बाद सुनवाई करते हुए सभी चारों को 14 दिनों के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया गया था। जिसके बाद बाकी 2 को आज पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram