Hindi Newsportal

भारी बारिश से तबाही: महाराष्ट्र में भूस्खलन और इमारत गिरने से 49 लोगों की मौत,90 से ज्यादा लापता; पीएम ने किया मुआवज़े के एलान

File Image
0 342

महाराष्ट्र में लगातार हो रही बारिश अब वहां की जनता के बीच नयी मुसीबत लेकर आई है। दरअसल रायगढ़, रत्नागिरी, पालघर, ठाणे और नागपुर के कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। बारिश के कारण राज्य में अभी तक लगभग 49 लोगों की जान जा चुकी है। रायगढ़ के तलई गांव में तो लगातार हो रही बारिश से पहाड़ का मलबा गिर गया जिसकी वजह से इसके नीचे 35 घर दब गए। बता दे इस दुखद हादसे में 36 लोगों की मौत हो गई। वहीं 70 – 90 से ज्यादा लोग लापता हो गए हैं। इधर मलबा गिरने के इस हादसे के बाद घटनास्थल से 15 लोगों को बचाया गया है, जबकि 30 से ज्यादा लोग अब भी मलबे में दबे हुए हैं।

सतारा में 8 ने गवाई जान तो मुंबई में बिल्डिंग गिरने से 5 की मौत।

इसके अलावा सतारा जिले में भूस्खलन की वजह से 8 लोगों की जान चली गई, जबकि मुंबई में एक इमारत गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई। बता दे राज्य में अभी तक 49 लोगों की मौत हो चुकी है।

भारी बारिश के कारण राहत कार्य में आ रही मुसीबत।

एनडीआरएफ की टीम राहत और बचाव कार्य में जुटी है। हालांकि, भारी बारिश के कारण राहत कार्य में यहां भारी दिक्कत आ रही है। जिला कलेक्टर, रायगढ़ कलेक्टर निधि चौधरी ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि जिले में भूस्खलन से कुल 36 लोगों की मौत हुई, इनमें तलाई इलाके में 32 और सखार सुतार वाड़ी में चार की जान चली गई। वहीं सतारा में भी आठ लोगों की मौत हो गई है जबकि 2 लोग अब भी लापता हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि 27 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है।

पीएम ने जताया शोक, किया मुआवज़े का एलान।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के रायगढ़ में भूस्खलन के कारण जान गंवाने वालों प्रत्येक लोगों के परिजनों के लिए PMNRF से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। वही घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

गृहमंत्री अमित शाह ने दुख जताया।

रायगढ़ हादसे पर गृहमंत्री अमित शाह ने दुख जताया। गृहमंत्री शाह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और एनडीआरएफ के डीजी से बात कर हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

मुख्यमंत्री ने दिए लोगों को निकालने और स्थानांतरित करने का आदेश।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बताया कि रायगढ़ के तलाई गांव में भूस्खलन से करीब 35 लोगों की जान चली गई। कई जगहों पर राहत एवं बचाव कार्य जारी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने उन लोगों को निकालने और स्थानांतरित करने का आदेश दिया है जहां भूस्खलन की संभावना है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि सड़क और पुल क्षतिग्रस्त होने से एनडीआरएफ और अन्य बचाव दल को चिपलून में बाढ़ प्रभावित इलाकों तक पहुंचने में दिक्कत हो रही है।

मुंबई और कोंकण के लिए रेड अलर्ट जारी।

इधर मौसम विभाग ने अगले तीन दिन के लिए कोंकण, मुंबई और इसके आसपास के जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram