Hindi Newsportal

महाराष्ट्र: मानसून की बारिश ने बरपाया कहर,भूस्खलन से अब तक 129 की मौत, 84 हज़ार को पहुंचाया सुरक्षित स्थान पर; IMD ने जारी किया रेड अलर्ट

0 716

महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से हो रही मूसलधार बारिश ने कई जगह को तहस- नहस कर दिया है। भारी बारिश राज्य के लोगों पर मुसीबत बनकर तो टूटी है, लेकिन इससे जान- माल को पहुंचे नुक्सान की कोई भरपाई नहीं है। ऐसा इसीलिए क्युकी पिछले दो दिनों में मूसलाधार बारिश से 129 लोगों को जान गंवानी पड़ी है। पिछले 24 घंटों में रायगढ़, रत्नागिरी और सतारा में हुई इन घटनाओं में कई लोग अब भी मलबे में दबे हैं। बाढ़ग्रस्त इलाकों में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ के अलावा नौसेना ने भी मोर्चा संभाल रखा है, लेकिन भारी बारिश ने इन सब की मुसीबतें भी बढ़ा दी है।

मुख्यमंत्री बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का करेंगे दौरा।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आज दोपहर 12 बजे मुंबई से हेलीकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित रायगढ़ जिले के महाड तहसील के लिए रवाना होंगे। वह अपनी यात्रा के दौरान बाढ़ प्रभावित गांव तलिये का भी दौरा करेंगे।

मलबे में 50 लोगों के दबे होने की आशंका।

रायगढ़ जिला कलेक्टर, निधि चौधरी के मुताबिक महाड में दो जगहों पर मलबे में से अब तक 44 शव निकाले जा चुके हैं जबकि 35 घायलों का इलाज चल रहा है। उनका कहना है कि रायगढ़ जिले में छह जगहों पर भूस्खलन हुआ है। एक स्थान पर बचाव कार्य अभी भी जारी है। मौके पर मौजूद अधिकारियों और कर्मचारियों के मुताबिक तो, मलबे में करीब 50 और लोगों के दबे होने की आशंका है।

136 आकस्मिक मौतें।

इधर, महाराष्ट्र के राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा कि महाराष्ट्र में बारिश और मानसून से संबंधित अन्य घटनाओं के कारण शुक्रवार (23 जुलाई) की शाम तक 136 आकस्मिक मौतें हुई हैं।

यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर: पाक की नापाक साजिश नाकाम, अखनूर में 5 किग्रा IED से लैस ड्रोन पुलिस ने मार गिराया; सोपोर में भी लश्कर के 2 आतंकी ढेर

84 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

बता दें, बारिश से प्रभावित पुणे में पिछले दो दिनों में 84,452 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ की टीम युद्धस्तर पर राहत व बचाव कार्य में जुटी हुई है। कोल्हापुर में एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को खाना वितरित कर मदद पहुंचाई है।

मौसम विभाग की चेतावनी।

इधर भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने छह जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है, जो पहले से बारिश से सराबोर हैं। आईएमडी ने ‘भारी बारिश’ बारिश का पूर्वानुमान व्यक्त किया है और एहतियाती उपायों की सिफारिश की है। विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों के लिये तटीय कोंकण इलाके में रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों के साथ ही पश्चिमी महाराष्ट्र के पुणे, सतारा और कोल्हापुर जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

वायु सेना ने भी पोहचए मदद।

हाईवे बंद।

कोल्हापुर जिले में बाढ़ के कारण 10 स्टेट हाईवे समेत कम से कम 39 सड़कों पर ट्रैफिक रुका है। NDRF की 3 टीमें बचाव कार्य में लगी हैं।

राज्य सरकार ने किया मुआवज़े का एलान।

इस बीच, महाराष्ट्र सरकार ने भूस्खलन में मरने वाले लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की मुआवजा देने का ऐलान किया है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram