Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: शिवलिंग पर बियर डालने वाले युवकों का नहीं है किसी अन्य समुदाय से वास्ता, फर्जी दावा हो रहा है वायरल

0 1,148

फैक्ट चेक: शिवलिंग पर बियर डालने वाले युवकों का नहीं है किसी अन्य समुदाय से वास्ता, फर्जी दावा हो रहा है वायरल

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल हो रहा है, वीडियो में दो युवकों को एक नदी किनारे बसे शिवलिंग पर बीयर डालते हुए देखा जा सकता है। इसी वायरल वीडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि यह दोनों युवक समुदाय विशेष से हैं जो शिवलिंग पर बियर डाल कर शिवलिंग की पूजा करने वाले समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचना चाहते हैं।

फेसबुक पर इस वीडियो को शेयर कर लिखा गया है कि,‘ ये मुल्ले देखो कैसे शिवलिंग पे बियर डालकर शिवलिंग का अपमान कर रहे है.. ये वीडियो चंडीगढ़ का है।’ 

 

     

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक: 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ शेयर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें दैनिक जागरण नामक वेबसाइट पर मामले से संबंधित एक लेख छपा मिला।

 

 

लेख के मुताबिक यह वीडियो चंडीगढ़ का है, वीडियो के वायरल होने के बाद हिंदू परिषद ने युवकों के खिलाफ आइटी पार्क थाना पुलिस को इसकी शिकायत दी है। वीडियो में अभद्रता कर रहे क्या किसी विशेष समुदाय से हैं इस बात की जानकारी प्राप्त करने के लिए खोजना शुरू किया।

खोज के दौरान हमें मामले से संबंधित अमर उजाला की वेबसाइट पर छपा एक और लेख मिला। लेख के मुताबिक आरोपियों की पहचान चंडीगढ़ के इंदिरा कॉलोनी के रहने वाले नरेश और दिनेश के रूप में हुई है। डीएसपी एसपीएस सोंधी ने बताया कि दोनों युवक मंडी में सब्जी बेचने का काम करते हैं। आरोपियों ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि घग्गर किनारे खंडित शिवलिंग पड़ा था। उसे साफ-सुथरा करने के लिए ऐसा किया। पुलिस आरोपियों को रविवार 26 जून को अदालत में पेश किया।

पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजा जिसके बाद हमें इंडियन एक्सप्रेस की वेबसाइट पर भी मामले से संबंधित एक लेख मिला। यहाँ भी आरोपियों के नाम बताए गए। लेख के मुताबिक आरोपियों के नाम दिनेश कुमार और नरेश कुमार हैं। जिन्हें अब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

 

 

पड़ताल के दौरान उपरोक्त मिले तथ्यों से हमें पता चला कि शिवलिंग पर बियर डालने वाले युवक किसी विशेष समुदाय से नहीं बल्कि शिवलिंग की पूजा करने वाले समुदाय से ही है।