Hindi Newsportal

फैक्ट चेक : ICMR के नाम पर वायरल कोरोना की इन गाइडलाइन्स पर ना करे विश्वास

0 467

देश में एक बार फिर कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कुछ गाइडलाइन्स के साथ ये दावा करते हुए शेयर किया जा रहा है की ICMR ने कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कुछ गाइडलाइन्स साझा की है।

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट में लिखा है – “भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद नई दिल्ली”। इस पोस्ट में जो दिशा निर्देश पालन यानी गाइडलाइन्स पालन करने के लिए कहे गए है उनमे से कुछ निर्देश ऐसे है –

1. 2 साल के लिए विदेश यात्रा स्थगित करें।
2. 1 साल तक बाहर का खाना न खाएं।
3. अनावश्यक शादी या अन्य समान समारोह में न जाएं।
4. बेवजह की यात्राएं न करें।
5. कम से कम 1 साल तक भीड़ वाली जगह पर न जाएं।
6. पूरी तरह से सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करें।
7. जिस व्यक्ति को खांसी हो, उससे दूर रहें।
8. फेस मास्क अवश्य पहने।
9. वर्तमान एक सप्ताह में बहुत सावधान रहें।
10. अपने आसपास किसी तरह की गंदगी न होने दें।
11. शाकाहारी भोजन को प्राथमिकता दें।
12. अब 6 महीने के लिए सिनेमा, मॉल, भीड़ भरे बाजार में न जाएं। यदि संभव हो तो पार्क, पार्टी आदि से भी बचना चाहिए।
13. प्रतिरक्षा यानी इम्मुनिटी बढ़ाएँ ।।
14. नाई की दुकान पर या ब्यूटी सैलून पार्लर में पूरी सावधानी बरते।
15. अनावश्यक बैठकों से बचें, हमेशा सामाजिक दूरी को ध्यान में रखें ।।

16. * कोरोना * का खतरा जल्द खत्म होने वाला नहीं है।

17. जब आप बाहर जाते हैं तो बेल्ट, अंगूठी, कलाई घड़ी न पहनें। घड़ी की आवश्यकता नहीं है। आप अपने फ़ोन में ही समय देख सकते है।
18 हमेश सेनिटिज़ेर का उपयोग करे।
19. अपने घर में जूते मत लाओ। उन्हें बाहर रखे।
20. बाहर से घर आने पर अपने हाथ और पैर साफ करें।
21. जब आपको लगता है कि आप एक संदिग्ध रोगी के निकट आ गए हैं तो पूरी तरह से स्नान करें।

देश में लॉक डाउन लगे या न लगे, आप इन नियमों का पालन ज़रूर करे।

इस पोस्ट का लिंक आप यहाँ देख सकते है।

इसी तरह के और पोस्ट आप यहाँ और यहाँ देख सकते है।

फैक्ट चेक

न्यूज़मोबाइल ने इस पोस्ट की जांच की और पाया की ये भ्रामक पोस्ट है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक: क्या इस वीडियो में अरविन्द केजरीवाल गुजरात के लोगों को धमका रहे हैं? जानें सच

सबसे पहले हमने ICMR की वेबसाइट पर नई गाइडलाइन्स के बारे में जांच की। लेकिन हमे वहां 21 पॉइंट की ऐसी कोई गाइडलाइन्स यानी दिशा निर्देश नहीं मिले। न ही हमे इससे सम्बंधित कोई प्रेस रिलीज़ मिला।

इसके बाद हमने ICMR के ट्विटर हैंडल की भी जांच की लेकिन हमे वहां भी ऐसी कोई गाइडलाइन्स नहीं मिली।

इस वायरल मैसेज को लेकर हमने आईसीएमआर में रिसर्च मैनेजमेंट, पॉलिसी, प्लानिंग एंड को-ऑर्डिनेशन के हेड और मीडिया को-ऑर्डिनेटर डॉक्टर रजनीकांत से संपर्क किया। ICMR के नाम से वायरल हो रहे दिशानिर्देश का खंडन करते हुए उन्होंने भी बताया की ‘ऐसा कोई भी दिशानिर्देश संस्थान की तरफ से जारी नहीं किया गया है।’

इसके अलावा हमे PIB का फैक्ट चेक भी मिला जिसमे उन्होंने इन गाइडलाइन्स को फ़र्ज़ी बताया है और साफ कर दिया है कि आईसीएमआर ने इस तरह का कोई भी गाइडलाइन जारी नहीं किया है।

इतनी जानकारी से हम दावा कर सकते हैं की सोशल मीडिया पर वायरल ये पोस्ट भ्रामक है।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें