Hindi Newsportal

जगन्नाथ यात्रा 2022 आज से शुरू, जाने पूरे कार्यक्रम का विवरण

0 162

जगन्नाथ यात्रा 2022 आज से शुरू, जाने पूरे कार्यक्रम का विवरण

 

आज यानी 01 जुलाई से जगन्नाथ यात्रा शुरू हो रही है, जो 12 जुलाई तक चलेगी। हिंदू कलैंडर के अनुसार, जगन्नाथ यात्रा हर साल आषाढ़ मास की द्वितीया तिथि को शुरू होता है। हिन्दू मान्यता के अनुसार भगवान जगन्नाथ अपने भाई बलराम और बहन सुभद्रा के साथ अपनी मौसी के घर जाते हैं। ओडिशा के पुरी शहर में स्थित जगन्नाथ मंदिर में हर साल धूमधाम के साथ रथयात्रा निकाली जाती है। जगन्नाथ मंदिर से तीन सजेधजे रथ रवाना होते हैं। इनमें सबसे आगे बलराज जी का रथ, बीच में बहन सुभद्रा का रथ और सबसे पीछे जगन्नाथ प्रभु का रथ होता है।

छेरा पहरा: 01 जुलाई, दोपहर 02:30 बजे से 03:30 बजे तक
जगन्ना​थ मंदिर पुरी के गजपति दिव्यसिंह देव दोपहर 02:30 बजे भगवान जगन्नाथ के रथ
नंदीघोष, बलराम के रथ तालध्वज और सुभद्रा जी के रथ दर्पदलन पर ‘छेरा पहरा’ की रस्म करेंगे. यह रस्म 03:30 बजे तक चलेगी. इसके बाद इन विशाल रथों पर लकड़ी के घोड़ों को लगाया जाएगा. उसी दौरान इन रथों के सारथी भी स्थापित होंगे।

रथ यात्रा का शुभारंभ का समय

01 जुलाई को शाम 04:00 बजे से जगन्नाथ रथ यात्रा प्रारंभ हो जाएगी. भक्त 3 किलोमीटर तक इन रथों को खींचकर ले जाएंगे। सबसे आगे बलराम जी का रथ तालध्वज, उसके बाद सुभद्रा जी का रथ दर्पदलन और फिर भगवान जगन्नाथ का रथ नंदीघोष होगा।

रथ यात्रा की वापसी
गुंडीचा मंदिर में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा जी 09 जुलाई तक रहेंगे और उस दिन ही वापसी यात्रा शुरु होगी।