Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: कांग्रेस नेता राहुल गांधी का अधूरा वीडियो गलत संदर्भ में हुआ वायरल, पढ़ें पूरा सच

0 203

फैक्ट चेक: कांग्रेस नेता राहुल गांधी का अधूरा वीडियो गलत संदर्भ में हुआ वायरल, पढ़ें पूरा सच

सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी की एक वीडियो क्लिप तेजी से वायरल हो रही है। वीडियो एक प्रेस वार्ता के दौरान का है। वीडियो क्लिप में राहुल गांधी मीडिया से बातचीत में कहते हैं कि “यह देश तपस्वियों का है पुजारियों का नहीं है” इसी क्लिप को बीजेपी नेता वह अन्य यूज़र्स सोशल मीडिया पर शेयर कर कांग्रेस पर तंज कर रहे हैं कि अब इन्हें पुजारियों से भी तकलीफ है।

फेसबुक पर वायरल क्लिप को शयेर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि,” अब इन कांग्रेसीयो को पुजारियों से भी तकलीफ़ है… कांग्रेस की भारत तोड़ो यात्रा”

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो क्लिप को अधूरी जानकारी के साथ वायरल किया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वीडियो के कुछ कीफ्रेम्स बनाए और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल तथा कुछ संबंधित कीवर्ड्स के माध्यम से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो से से संबंधित दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर एक खबर मिली। जिसे जनवरी 08, 2023 को प्रकाशित किया गया था।

 

 

लेख के मुताबिक करनाल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस तपस्या का संगठन है। भाजपा पूजा का संगठन है। पूजा 2 तरीके की होती है। नॉर्मली पूजा भगवान के पास जाकर होती है। RSS की पूजा अलग है।

वह (RSS) चाहता है कि जबरन उनकी पूजा हो। मोदी जी चाहते हैं कि जबरन उनकी पूजा हो। देश में सब लोग उनकी पूजा करें। उसका रिस्पॉन्स तपस्या ही हो सकती है। कांग्रेस की तपस्या में कमी हो गई थी, यात्रा से उसे पूरा कर रहे हैं। इसी दौरान उन्होंने कहा कि ‘यह देश तपस्वियों का है, पुजारियों का नहीं’।

इसके बाद पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजा। जिसके बाद हमें कांग्रेस के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड एक वीडियो में वायरल वीडियो क्लिप मिली। बता दें कि प्राप्त वीडियो को यूट्यूब पर जनवरी 08, 2023 को अपलोड किया गया था।

 

यहाँ यूट्यूब पर प्राप्त वीडियो में करीब 36 मिनट 26 सेकंड पर एक पत्रकार ने उनसे सवाल पूछा कि क्या अब राहुल गांधी तपस्वी हो गए हैं तब इसी सवाल पर उन्होंने बयान दिया कि “मैं तपस्वी था, अब भी तपस्वी हूं. ये देश तपस्वियों का देश है. हिंदुस्तान में ऐसा कोई भी किसान, मजदूर नहीं होगा जो मुझसे कम चला होगा. कोई इसकी बात क्यों नहीं करता है? क्योंकि हम तपस्या की इज्ज़त नहीं करते हैं, लेकिन मैं करता हूं. यही बदलाव लाना है। ये देश तपस्वियों का है. ये देश पुजारियों का नहीं है।”

पड़ताल के दौरान हमें मिले तथ्यों हमने जाना कि वायरल वीडियो क्लिप को अधूरी जानकारी के साथ वायरल किया जा रहा है।