Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: हिन्दू युवा वाहिनी के नेता के कंबल वितरण कार्यक्रम में अश्लीलता के नाच का यह वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि पुराना है, जानिए पूरा सच

0 250

फैक्ट चेक: हिन्दू युवा वाहिनी के नेता के कंबल वितरण कार्यक्रम में अश्लीलता के नाच का यह वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि पुराना है, जानिए पूरा सच

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में एक मंच पर युवती को नाचते हुए देखा जा सकता है। बता दें मंच पर  एक पोस्टर भी लगाया गया है, जिसमें सीएम योगी की तस्वीर भी देखी जा सकती है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को इन दिनों शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो भाजपा के कंबल वितरण कार्यक्रम का है, जहां कंबल वितरण के मौके पर यह रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन कराया गया है।

फेसबुक पर वायरल वीडियो को शेयर कर लिखा गया है कि,” कंबल वितरण समारोह, सौजन्य से – भाजपा और हिंदू युवा वाहिनी के संयुक्त तत्वावधान में, चाल चरित्र और चेहरे तथा पार्टी विद डिफरेंस वाले भाजपाई तथा “गेस्ट हाउस की होस्ट” लोग अपने चरित्र पर आत्ममंथन करें”

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।  

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2019 के दौरान का है, इसका हालिया दिनों से कोई संबंध नहीं।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने वीडियो में दिख रहे पोस्टर पर गौर किया। इस दौरान हमें पोस्टर पर हिन्दू युवा वाहिनी और कंबल वितरण एवं सहभोज लिखा दिखाई दिया। जिससे यह तो साफ़ समझ आ रहा था कि यह कार्यक्रम हिन्दू युवा वाहिनी के कंबल वितरण कार्यक्रम का ही है।

अब देखना यह था कि असल में यह वीडियो कब का है और इसकी पूरी सच्चाई क्या है?, इसलिए वीडियो की सटीक जानकारी के लिए अब हमने वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में बदला और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खंगाला। लेकिन गूगल पर मिले परिणामों में हमें वीडियो से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली।

वीडियो की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने गूगल पर कीफ्रेम्स के साथ-साथ वीडियो में दिख रहे पोस्टर से जुड़े कुछ संबंधित कीवर्ड्स की सहायता से खोजा। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो अविरल श्रीवास्तव नामक ट्विटर यूजर की प्रोफाइल पर वायरल वीडियो मिला। बता दें कि अविरल ने वीडियो को जनवरी 21, 2019 को कुछ कैप्शन के साथ अपलोड किया था।

वीडियो के कैप्शन में जानकारी दी गयी थी कि यह वीडियो ‘लखनऊ इटौजा थाना क्षेत्र मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बैनर लगाकर बीजेपी के कार्यकर्ता समाज में फैला रहे हैं,अश्लीलता,कंबल वितरण के नाम पर बीजेपी के कार्यकर्ता करा रहे हैं बार बालाओं का डांस

उपरोक्त प्राप्त ट्वीट में मिली जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो से मेल खाता एक दूसरा वीडियो नवभारत टाइम्स की वेबसाइट पर जनवरी 21, 2019 को छपे एक लेख में मिला।

प्राप्त लेख में जो वीडियो अपलोड किया गया उसमें वायरल वीडियो वाला पोस्टर साफ़-साफ़ मंच के पीछे देखा जा सकता है। बता दें कि इस लेख में उपरोक्त प्राप्त ट्वीट में दी गयी जानकारी का विस्तृत रूप से उल्लेख किया गया है। लेख के मुताबिक यह वीडियो लखनऊ के इंटौजा थाना क्षेत्र के अंतर्गत महादेव मंदिर के पास हिंदू युवा वाहिनी के नेता विमल सिंह पंवार के द्वारा आयोजित कंबल वितरण कार्यक्रम का है। लेख में बताया गया कि इस कार्यक्रम में मुंबई से आयीं बार-बालाओं के नाच का आयोजन भी किया गया था। लेख में बताया गया कि इस कार्यक्रम में बीजेपी कार्यकर्ताओं समेत कई स्थानीय नेता मौजूद रहे थे।

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2019 के दौरान का है। जिसे हालिया दिनों में शेयर किया जा रहा है।