Hindi Newsportal

लैंडस्लाइड और भारी बारिश ने उत्तराखंड समेत इन राज्यों में मचाई तबाही, हिमाचल की बोह घाटी में बाढ़ से 8 लापता, 2 शव बरामद

0 795

कोरोना संकट में दूसरी लहर के प्रकोप को झेलने के बाद जैसे ही लोग पहाड़ों पर कुछ पल सुकून से बिताने चले थे कि उतने में ही कुदरत ने पहाड़ों को दूसरा संकट दे दिया है। दरअसल उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में बारिश का सिलसिला जारी है। इसके कारण दोनों राज्यों को जान-माल का भी नुकसान पहुंच रहा है। वहीं, यात्रियों को रास्ते खराब होने के कारण कई परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। इधर उत्तरकाशी जिले के डबरानी क्षेत्र में तो भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन ने मंगलवार को गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग को बाधित कर दिया है।

क्या कहना है प्रशासन का ?

जिला प्रशासन के अधिकारियों के मुताबिक सड़क पर बड़े-बड़े पत्थर और मलबा गिरने से गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग ब्लॉक हो गया है। सीमा सड़क संगठन (BRO) लगातार राजमार्ग को खाली कराने की कोशिश कर रहा है, जिससे जितना जल्दी हो सके मार्ग को खोला जा सके। वहीं, धरासू गढ़ का जलस्तर बढ़ने से ऊंचाई वाले गांवों को नुकसान पहुंचा है।

हिमाचल प्रदेश में भी बारिश मचा रही तबाही।

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में शाहपुर से करीब 25 किलोमीटर दूर बोह घाटी में सोमवार को भारी बारिश से आई बाढ़ में 10 घर बह गए। मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए मंगलवार सुबह करीब पांच बजे एनडीआरएफ के जवानों ने बचाव अभियान शुरू किया। कल देर रात तक चले बचाव अभियान के दौरान पांच लोगों को सुरक्षित बचाया गया। इनमें दो बच्चियां भी शामिल हैं। इधर आज तड़के ही मलबे से एक और शव को बरामद किया गया है।

यह भी पढ़े : नहीं रहे वर्ल्ड कप 1983 के ‘हीरो’ यशपाल शर्मा, 66 साल की उम्र में हार्टअटैक से निधन

एनडीआरएफ के करीब 50 जवान लगे है बचाव अभियान में।

प्रशासन के मुताबिक अभी भी मलबे में करीब आठ लोगों के दबे होने की आशंका है। इसी क्रम में एनडीआरएफ के करीब 50 जवान बचाव अभियान में लगे हैं। बता दे इस आपदा से कई परिवार बेघर हो गए हैं।

धर्मशाला में बारिश ने तोड़ा रिकॉर्ड, कुदरत का जमकर दिखा प्रकोप।

धर्मशाला में तो करीब 23 साल बाद 24 घंटे के भीतर 395 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी। वहीं, नगरोटा बगवां में दस साल की लड़की बह गई थी, जिसका शव 300 मीटर दूर मिला।

पर्यटन स्थल भागसूनाग में मंज़र देख काँप उठे लोग।

पर्यटन स्थल भागसूनाग में तो 12 कारें, एक दर्जन मोटरसाइकिलें और शीला चौक में दो पुल बह गए थे। शीला चौक के पास एक श्मशानघाट बह गया और पासू में प्राइमरी स्कूल में पांच फीट तक पानी भर गया था।

जम्मू में भी पिछले 24 घंटे से भारी बारिश जारी।

जम्मू में भी पिछले 24 घंटे से भारी बारिश का सिलसिला जारी है। बताया जा रहा है कि जम्मू में 32 साल बाद बारिश का रौद्र रूप देखने को मिला है। इतना ही नहीं भारी बारिश के चलते घरों में पानी भर गया है। कई मार्ग भी बांधित हो गए है और ऐसे में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram