Hindi Newsportal

भारत की झोली में आया तीसरा पदक: लवलीना बोर्गोहेन ने मुक्केबाजी में जीता कांस्य पदक; असम सरकार ने ऐसे दिया तोहफा

0 549

भारत की स्टार मुक्केबाज लवलीना बोर्गोहेन को बुधवार को यहां महिला वेल्टरवेट वर्ग (69 किग्रा) के सेमीफाइनल में तुर्की की मौजूदा विश्व चैंपियन बुसेनाज सुरमेनेली के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है। लेकिन फिर भी भारत की बेटी ने देश के लिए ब्रॉन्ज मेडल हासिल कर लिया है। दरअसल इस मुकाबले में पहली बार ओलंपिक खेल रही लवलीना ने पूरा जोर लगाया लेकिन बुसेनाज के खिलाफ ज्यादा कुछ नहीं कर पाईं और भारतीय मुक्केबाज को 0-5 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

रच दिया है इतिहास।

लवलीना भले ही फाइनल में पहुंचने से चूक गईं, बावजूद इसके वह इतिहास रचने में सफल रहीं। वह अब ओलंपिक इतिहास में पदक जीतने वाली भारत की दूसरी महिला मुक्केबाज बन गई हैं।

बॉक्सिंग में 9 साल बाद आया है पदक, ओलिंपिक का है तीसरा मैडल।

तोक्यो खेलों में यह भारत का तीसरा पदक है। इससे पहले भारोत्तोलन में मीराबाई चानू ने रजत जबकि बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने कांस्य पदक जीता। लवलीना का पदक पिछले नौ वर्षों में भारत का ओलंपिक मुक्केबाजी में पहला पदक है।

पदक तो पहले ही पक्का कर चुकी थी लवलीना।

इधर क्वॉर्टर फाइनल में लवलीना हालांकि चीनी ताइपै की पूर्व विश्व चैंपियन नीन चिन चेन को हराकर पहले ही पदक पक्का कर चुकी थीं। बता दे असम की 23 वर्षीय लवलीना ने विजेंदर सिंह (बीजिंग 2008) और एमसी मैरीकोम (लंदन 2012) की बराबरी की है। ऐसा इसीलिए क्युकी विजेंदर और मैरीकोम दोनों ने कांस्य पदक जीते थे।

हार से मैं सदमे में हूं: लवलीना।

अपना पहला ओलंपिक खेलते हुए मुक्केबाजी में कांस्य पदक जीतने वाली लवलीना सेमीफाइनल में मिली हार से निराश हैं लेकिन उन्होंने मजबूत वापसी करने का वादा किया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी जीत की बधाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओलंपिक की मुक्केबाजी प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीतने पर भारतीय महिला मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन को बुधवार को बधाई दी और कहा कि रिंग में उनकी सफलता कई भारतीयों को प्रेरित करती है। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, बहुत शानदार मुकाबला किया लवलीना बोरगोहेन। बॉक्सिंग रिंग में उनकी सफलता कई भारतीयों को प्रेरित करती है। उनकी दृढ़ता और संकल्प प्रशंसनीय है। कांस्य पदक जीतने पर उन्हें बधाई। भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं।

देश में उठी ख़ुशी की लहर।

भारत के लिये तोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने वाली मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन को खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और शीर्ष निशानेबाज अभिनव बिंद्रा सहित कईयों ने दी। ठाकुर ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, लवलीना सेमीफाइनल में पहुंच गयी। शानदार लवलीना बोरगोहेन। सुबह उठते ही भारत के लिये कितनी शानदार खबर। हम आपको रिंग में देखने के लिये टीवी देखते रहे।

असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिश्व सर्मा ने गोलाघाट जिले की मुक्केबाज को बधाई देते हुए कहा, यह बड़ा पंच है। लवलीना बोरगोहेन हमें गौरवान्वित करना जारी रखो और तोक्यो ओलंपिक में भारत का झंडा ऊंचा और चमकदार रखो। बहुत बढ़िया।

असम सरकार का तोहफा: लवलीना के घर तक बनाई पक्की सड़क।

इधर जैसे ही ओलंपिक में लवलीना का पदक पक्का हुआ है वैसे ही उनके घर तक जाने वाली कच्ची सड़क अब पक्की हो गयी है। स्थानीय विधायक बिस्वजीत फूकन ने लवलीना के घर तक की सड़क पर पथर डलवा के सड़क पक्की कर दी है और जल्द ही उसे पूरा ठीक भी कर दिया जाएगा।

पिता ने ज़ाहिर की ख़ुशी।

देश में उमड़ी ख़ुशी और सरकार से मिले सहयोग के बाद उनके पिता टिकेन ने गर्व व्यक्त करते हुए कहा, “अब जब उसने ओलंपिक में पदक जीता है, तो सरकार ने सड़क बनाई है और मैं बहुत खुश हूं क्योंकि यह लवलीना और हमारे गांव दोनों के लिए सरकार की ओर से एक पुरस्कार की तरह है।”

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram