Hindi Newsportal

बंगाल में चुनाव नतीजों के बाद जगह-जगह हिंसा में 11 की मौत; केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट, BJP, Congress और CPI-M ने भी की निंदा

0 523

बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा के बाद भी हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार शाम से सोमवार रात तक बंगाल के विभिन्न हिस्सों में हिंसा की घटनाएं घटी हैं। अभी तक इन घटनाओं में 11 लोगों के मारे जाने की खबर है। अब भाजपा का आरोप है कि इनमें नौ उसके कार्यकर्ता हैं। जबकि ब‌र्द्धमान में एक टीएमसी और उत्तर 24 परगना में एक आइएसएफ के कार्यकर्ता की जान चली गई है।

बता दे ज्यादातर घटनाओं में आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा है। इधर हिंसा की घटनाओं पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है। वही हिंसा-आगजनी पर राज्यपाल ने भी डीजीपी को समन किया है तथा गृह सचिव से रिपोर्ट मांगी है। और तो और, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने रविवार शाम को चुनाव बाद हिंसा को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।

सीताराम युचेरी ने कहा- यह निंदनीय है।

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने लिखा: ‘क्या बंगाल में हिंसा की रिपोर्ट, इनके विजय का उत्सव है? यह निंदनीय है। इसका विरोध होना चाहिए। कोरोना संक्रमण का मुकाबला करने के बजाए टीएमसी इन कामों में लिप्त है। सीपीआईएम हमेशा लोगों की मदद करने के लिए मौजूद है।’

कांग्रेस के नेता जितिन प्रसाद ने ट्वीट किया, “चुनाव के बाद टीएमसी द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर हो रही हिंसा अस्वीकार्य है। बच्चे और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा जा रहा है। मैं निश्चित हूं कि बंगाल के लोगों ने इस अराजकता के लिए वोट नहीं किया है।”

ये भी पढ़े : COVID-19 LIVE | बीते 24 घंटो में दर्ज 3.57 लाख मामले और 3,449 मौतें, कुल संक्रमितों का आकड़ा 2 करोड़ के पार

बीजेपी की की हिंसा की कड़ी निंदा।

जगदीप धनखड़ ने मांगी रिपोर्ट।

चुनावी हिंसा के बाद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने प्रदेश के गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) और कोलकाता के पुलिस आयुक्त को तलब कर उन्हें शांति बहाल करने के निर्देश दिये। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस की सत्ता में वापसी के एक दिन बाद हुई इन घटनाओं के बाद की स्थिति पर अफसरों से चर्चा की है। उन्होंने गृह सचिव एक के द्विवेदी से मुलाकात के बाद ट्वीट किया, ‘राज्य में चुनाव के बाद हिंसा की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर मैंने एसीएस गृह को तलब किया था और उन्हें चुनाव बाद हुई राज्य में हुई हिंसा व तोड़फोड़ तथा उठाए गए कदमों पर रिपोर्ट देने को कहा गया है।’ उन्होंने अलग से राज्य के पुलिस महानिदेशक पी नीरजनयन और पुलिस आयुक्त सोमेन मित्र से मुलाकात की और उन्हें कानून-व्यवस्था बहाल करने का निर्देश दिया है ।

इधर BJP सांसद का विवादित बयान, कहा- याद रखना TMC वालों को भी दिल्ली आना है।

इधर इस हिंसा के बीच बीजेपी सांसद परवेश साहिब सिंह ने एक विवादित बयान देते हुए कहा- ‘TMC के गुंडों ने चुनाव जीतते ही हमारे कार्यकर्ताओं को जान से मारा। कार्यकर्ताओं की गाड़ियां तोड़ीं। उपद्रवी उनके घरों को आग के हवाले कर रहे हैं। याद रखना TMC के सांसद , मुख्यमंत्री, विधायकों को भी दिल्ली आना होगा। इसको चेतावनी समझ लेना। चुनाव में हार जीत होती है, मर्डर नहीं।’

बता दे कि कल सीएम ममता बनर्जी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से शांति की अपील की थी, लेकिन इसके बावजूद हिंसा और प्रदर्शन जारी है। इस बीच, कल सीएम ममता बनर्जी तीसरी पर सीएम पद के लिए शपथ ग्रहण करेंगी और आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी पीड़ित कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram