Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: बांग्लादेश के वीडियो को पश्चिम बंगाल में मनाई गयी बकरीद का बताकर किया जा रहा है वायरल, जानें पूरा सच

0 318
फैक्ट चेक: बांग्लादेश के वीडियो को पश्चिम बंगाल में मनाई गयी बकरीद का बताकर किया जा रहा है वायरल, जानें पूरा सच

 

समुदाय विशेष के त्योहार बकरीद के बाद से ही सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से शेयर किया जा रहा है। वीडियो में दो इमारतों के बीच कुछ लोगों की भीड़ के साथ कई जानवरों को जमीन पर चित्त पड़े हुए देखा जा सकता है। साथ ही गौर किया जा सकता है कि वीडियो में दिख रही फर्श पूरी लाल रंग में दिखाई दे रही है ऐसा प्रतीत होता है कि फर्श जमीम पर चित्त पड़े जानवरों के खून से लाल हो गयी है।

इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पश्चिम बंगाल का है, जहां कुछ लोग बकरीद मानाने के लिए बड़ी संख्या में गायों की बलि दी गयी है।

फेसबुक पर वायरल वीडियो शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि “Warning: देख सको तो देखो, वरना बिना खोले delete कर दो बंगाल में बकरीद मनाने का दृश्य.. 200 से ज्यादा गाय काटी गई इस रेसिडेंसियल कॉप्लेक्स के सामने बधाइयां नही दोगे ? आप लोग बोलो बकरीद मुबारक शांति का त्योहार ?”

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का आर्काइव लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो भारत का नहीं है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के शेयर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। सबसे पहले हमने गौर किया कि उक्त वीडियो के बैकराउंड में एक महिला की आवाज को बंगाली भाषा में कुछ बोलते हुए सुना जा सकता है।

जिसके बाद हमने भाषा को समझने के लिए अपने पश्चिम बंगाल के एक साथी रेहान से संपर्क किया। भाषा को सुनने पर हमारे साथी ने बताया कि वीडियो में बोली जा रही भाषा बंगाली ही है, लेकिन जिस लहजे में यह बोली जा रही है वह लहजा पश्चिम बंगाल का नहीं बल्कि बांग्लादेश का प्रतीत होता है।

इस जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो क्लिप Instagram पर एक दूसरे कैप्शन के साथ मिली। जिसे जुलाई 2,2023 के करीब अपलोड किया गया था। हालांकि यहाँ वायरल वीडियो की कोई खास जानकारी नहीं दी गयी थी, लेकिन प्राप्त पोस्ट से हमें यह मालूम पड़ा कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं।

 

बता दें कि वायरल वीडियो में बंगाली भाषा में सुनाई दे रही महिला की आवाज को समझने पर हमारे पश्चिम बंगाल के साथी ने यह भी बताया कि महिला बंगाली भाषा में यह बता रही थी कि यहाँ इस तरह एक साथ सभी लोग जानवरों की बलि देते हैं। जिसके बाद वायरल वीडियो की सटीक जानकारी के लिए हमने गूगल पर कुछ बंगाली भाषा के कैप्शन के साथ बारीकी से खोजना शुरू किया।

खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो से मेल खाती हुई इमारतों का एक वीडियो Daily Needs by Rohan नामक फेसबुक पेज पर मिला। जिसे अगस्त 25,2022 को अपलोड किया गया था।

 

दोनों वीडियो में दिख रही इमारतों की तुलना-

 

फेसबुक पर प्राप्त वीडियो के कैप्शन में जानकारी दी गयी है कि यह वीडियो Shagupta shapno Nagor Area Flat का है। इसके बाद हमने यह जानने के लिए खोजना शुरू किया कि यह स्थान कहाँ स्थित हैं। प्राप्त परिणामों से हमने जाना कि वायरल वीडियो बांग्लादेश की राजधानी ढाका का है।

 

पुष्टि के लिए हमने गूगल एअर्थ पर भी उपरोक्त प्राप्त पते से खोजना शुरू किया, जहां हमें खोज में वायरल वीडियो वाली इमारतें बखूबी देखने को मिली।

 

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो पश्चिम बंगाल का नहीं बल्कि बंगलादेश की राजधानी ढाका का है। साथ ही अपनी पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2023 से ही यह इंटरनेट पर मौजूद है।