Hindi Newsportal

पंजाब कांग्रेस को बड़ा झटका, लुधियाना सांसद रवनीत सिंह बिट्टू भाजपा में हुए शामिल

0 215

पंजाब कांग्रेस को बड़ा झटका, लुधियाना सांसद रवनीत सिंह बिट्टू भाजपा में हुए शामिल

 

लोकसभा चुनाव नज़दीक है। पक्ष विपक्ष की तैयारियां ज़ोरों पर है। ऐसे में नेताओं का एक पार्टी छोड़ दूरी में शामिल होने की होड़ भी लगी हुई है। इसी क्रम में पंजाब कांग्रेस यूनिट को बड़ा झटका लगा है। पंजाब कांग्रेस के बड़े नेता व लुधियाना सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने आज कांग्रेस पार्टी का हाथ छोड़ कमल का दामन थाम लिया है।

 

भाजपा में शामिल होने पर रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा, “मैंने जब भी प्रधानमंत्री या गृह मंत्री से पंजाब को लेकर कोई बात की है तो उन्होंने हमेशा उसे सकारात्मक तरीके से लिया है… हम पंजाब को आगे लेकर जाना चाहते हैं… जब देश आगे बढ़ रहा है तो पंजाब क्यों पीछे रहे?…”

कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने पर पंजाब के नेता प्रतिपक्ष व कांग्रेस नेता प्रताप सिंह बाजवा ने कहा, “कुछ लोगों के जाने का हमें पहले अफसोस हुआ था लेकिन इनके जाने का हमें कोई अफसोस नहीं हुआ… इनके जाने से हमें शांति मिली है।”

वहीं पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिन्दर सिंह राजा वारिंग ने कहा, “…लुधियाना के अंदर एक नया इंकलाब होगा। यह हमारे लिए एक मौका है। उनका(रवनीत सिंह बिट्टू) जाना कोई बड़ी बात नहीं है…”

कौन है रवनीत सिंह बिट्टू

रवनीत सिंह बिट्टू पहली बार आनंदपुर साहिब से 2009 में चुनाव जीते थे। उसके बाद 2014 में सीट बदल कर लुधियाना आ गए। क्योंकि इस सीट से सीटिंग सांसद मनीष तिवारी ने चुनाव नहीं लड़ा था। उसके बाद वह लगातार दो बार से सांसद चुने जा रहे है। बेअंत सिंह परिवार को सदैव हिंदू मतदाताओं का समर्थन मिलता रहा है। इसलिए भाजपा ने रवनीत बिट्टू पर दांव खेला है। रवनीत बिट्टू के भाई गुरकिरत कोटली पंजाब की पूर्व चरणजीत चन्नी सरकार में में मंत्री रहे हैं। लेकिन 2022 में गुरकिरत कोटली चुनाव हार गए थे। बता दें कि बिट्टू लुधियाना से 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर 70,000 से अधिक मतों के अंतर से जीते थे।