Hindi Newsportal

गांधी परिवार के बाहर से पार्टी अध्यक्ष चुना गया तो बिखर जाएगी पार्टी: नटवर सिंह

0 351

भारतीय राजनीति की भव्य पुरानी पार्टी कांग्रेस संकट की स्थिति में है. जब से राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया है, पार्टी की बागडोर कौन संभालेगा, इस बात को लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई है.

अब पार्टी के दिग्गज नटवर सिंह ने फिर से स्थिति संभालने के लिए गांधी परिवार का ही एक नाम सुझाया है. रविवार को, उन्होंने कई अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं का समर्थन किया, जो चाहते हैं कि प्रियंका गांधी वाड्रा शीर्ष पद ग्रहण करें. उन्होंने आगे कहा कि यदि कोई गैर-गांधी कार्यभार लेता है, तो यह पार्टी को विभाजित करने का कारण बन सकता है.

एएनआई के अनुसार, उन्होंने एक गोलीबारी की घटना के पीड़ितों से मिलने के लिए सोनभद्र की यात्रा पर गयी प्रियंका की प्रशंसा की और कहा कि वह पार्टी को संभालने में सक्षम हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि राहुल के गांधी परिवार के बाहर के किसी व्यक्ति को पार्टी प्रमुख बनाने के फैसले को बदलना होगा.

यह पूछे जाने पर कि क्या प्रियंका को पार्टी अध्यक्ष चुना जाएगा, नटवर सिंह ने कहा, “यह प्रियंका पर निर्भर करेगा क्योंकि उनके भाई (राहुल गांधी) ने कहा था कि गांधी परिवार से कोई भी कांग्रेस अध्यक्ष नहीं बनेगा. अब, परिवार को इस निर्णय को उलटना होगा और केवल वे ही ऐसा कर सकते हैं.”

इससे पहले, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के बेटे अनिल शास्त्री ने कहा था कि प्रियंका गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए, क्योंकि उनके अलावा कोई भी “100 प्रतिशत स्वीकार्य” नहीं है.

शास्त्री ने एएनआई से बात करते हुए यह भी चेतावनी दी थी कि अगर किसी और को सुप्रीमो बनाया जाता है और संगठन का एक वर्ग उन्हें स्वीकार नहीं करता है, तो संभावना है कि पार्टी बिखर जाएगी.

ALSO READ: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने रामविलास पासवान से की मुलाकात, भाई की मृत्यु पर जताया…

“यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश की 134 साल पुरानी पार्टी में पार्टी अध्यक्ष नहीं है. मुझे नहीं लगता कि गांधी परिवार के अलावा किसी को भी पार्टी अध्यक्ष चुना जाना चाहिए.”

भारत में 2019 के आम चुनावों में पार्टी को अपमानजनक हार मिलने के बाद राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटे हुए लगभग 50 दिन हो चुके हैं.

कांग्रेस पार्टी गोवा और कर्नाटक राज्य में भी मुश्किल समय का सामना कर रही है. कर्नाटक में कांग्रेस जेडी (एस) गठबंधन को आज विधान सभा में फ्लोर टेस्ट का सामना करना पड़ रहा है.