Hindi Newsportal

एक्सक्लूसिव फैक्ट चेक: कुम्भ 2021 की तारीफ करते हुए उत्तराखंड चीफ सेक्रेटरी को लिखा NSA अजीत डोभाल का ये लेटर है ‘फेक’

0 803

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक लेटर इस दावे के साथ वायरल हो रहा है कि NSA अजीत डोभाल ने उत्तराखंड चीफ सेक्रेटरी को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कुम्भ 2021 के आयोजन की तारीफ की है।

पत्र यानी इस वायरल लेटर को अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने ट्वीट किया था। ट्विटर पर इस पत्र को साझा करते हुए उन्होंने लिखा:  “कुंभ मेले के आयोजन के लिए उत्तराखंड चीफ सेक्रेटरी की तारीफ करना और बिना सोचे समझे आरएसएस की विचारधारा को बढ़ावा देना !!”

यहाँ उपरोक्त पोस्ट का लिंक दिया गया है इसी तरह के पोस्ट फेसबुक पर आप यहां और यहां देख सकते हैं।

उत्तराखंड के मुख्य सचिव को संबोधित पत्र में, डोभाल ने सचिव के “कुंभ मेले के दौरान स्थिति को संभालने” की सराहना की।

पत्र में आखिरी में लिखा गया है कि कुंभ मेले के सफल आयोजन के लिए उनके प्रयासों से राज्य में एक धार्मिक माहौल सुनिश्चित होगा, आदेश को बनाए रखने में मदद मिलेगी और भविष्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा को बढ़ावा मिलेगा।

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल ने इस पोस्ट की जांच की और इसे फेक पाया।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक: क्या यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया OBC वर्ग को लेकर ये बयान? जानें सच

पत्र का खंडन करते हुए, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने न्यूज़मोबाइल को एक्सक्लुसिवली बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल लेटर ‘फेक’ है।

कोरोना काल में कुम्भ।

बता दे इस बार कोरोना कि स्थिति को देखते हुए पहली बार कुम्भ की अवधि को छोटा कर के मात्र 30 दिन तक के लिए रखा गया था। गौरतलब है कि कुंभ भारत में चार अलग-अलग स्थानों – नासिक, हरिद्वार, प्रयागराज और उज्जैन में समय-समय पर आयोजित किया जाता है। सामान्य परिस्थितियों में, कुंभ लगभग चार महीनों तक जारी रहता है, लेकिन इस साल कोरोना महामारी के कारण, कुम्भ को केवल 1 महीने यानी 30 दिन तक ही आयोजित करने की इजाज़त थी।

हमारी जांच और खुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल द्वारा मिले बयान के बाद हम ये दावा कर सकते है कि सोशल मीडिया पर वायरल ये लेटर फेक है।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें