Hindi Newsportal

सिक्किम में नैरोबी मक्खियों का कहर, चपेट में आये छात्र, कॉलेज में 100 से अधिक छात्र संक्रमित

फाइल फोटो
0 496

सिक्किम में नैरोबी मक्खियों का कहर, चपेट में आये छात्र, कॉलेज में 100 से अधिक छात्र संक्रमित

 

नैरोबी मक्खियों ने अफ्रीका में अपना कहर बरपाने के बाद अब भारत में भी दस्तक दे दी है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्वी सिक्किम में नैरोबी मक्खियों के संपर्क में आने से एक इंजीनियरिंग कॉलेज के करीब 100 छात्रों संक्रमित पाए गए हैं। नैरोबी मक्खियों के संपर्क में आने से छात्रों को गंभीर त्वचा संक्रमण का सामना करना पड़ा।

बताया जाता है कि ये मक्खियां काटती नहीं हैं। लेकिन,अगर मक्खी शरीर पर बैठे या चिपके तो उसे छूना नहीं चाहिए। छूने पर,या इसे मसलने से यह एसिड जैसे जहरीला पदार्थ छोड़ता है, जिसे पेडरिन नाम से जाना जाता है। जो बहुत हानिकारक होता है। इस पेडरिन के त्वचा के सम्पर्क में आने से यह रासायनिक जलन पैदा करता है। आंखों को मसलते वक्त अगर यह खतरनाक पेडरिन आंखों तक पहुंच जाता है तो कुछ देर के लिए संक्रमित व्यक्ति अंधेपन में भी चला जाता है।

सिक्किम में नैरोबी मक्खी का प्रकोप शुरू हो गया है। इस एसिड फ्लाई का प्रकोप बहुत तेजी से बढ़ रहा है। पहाड़ों से होते हुए इस एसिड फ्लाई का प्रकोप सिलीगुड़ी शहर तक पहुंच गया है, जहां सैकड़ों लोग नैरोबी मक्खी (एसिड फ्लाई) से संक्रमित हैं। इसके फैलने की रफ्तार बहुत तेज है। ऐसा मानना है कि सिलीगुड़ी के समीपवर्ती बिहार के किशनगंज जिले में भी इस नैरोबी मक्खी का प्रकोप शुरू हो जाएगा। वर्तमान में सिलीगुड़ी शहर के विभिन्न क्षेत्रों में इस कीड़े ने लोगों पर आक्रमण किया है। चींटी की तरह दिखने वाला यह कीड़ा काफी खतरनाक है।