Hindi Newsportal

EC ने विपक्षी दलों की मतगणना प्रक्रिया में बदलाव की मांग को किया खारिज

0 1,258

समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि चुनाव आयोग ने 22 राजनीतिक दलों द्वारा 23 मई को होने वाली वोटों की गिनती के तरीके में अंतिम समय में बदलाव करने की मांग को ख़ारिज कर दिया है.

मंगलवार को, 22 राजनीतिक दलों के नेताओं ने चुनाव आयोग के सामने संयुक्त रूप से यह मांग रखी थी कि अगर वीवीपीएटी सत्यापन के दौरान कहीं भी कोई गड़बड़ी पाई जाती है, तो उस विधानसभा क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों के 100 प्रतिशत वीवीपीएटी पेपर स्लिप की गिनती की जानी चाहिए। ‘

आयोग ने विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को बताया था कि इस प्रस्ताव पर निर्णय लेने के लिए बुधवार को मतदान पैनल की बैठक होगी।

कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी ने पूछा,“हमने पिछले डेढ़ महीने में इन्हीं मुद्दों को उठाया। उन्होंने जवाब क्यों नहीं दिया?”

ALSO READ: ईवीएम से संबंधित शिकायतों की निगरानी के लिए चुनाव आयोग ने की 24*7 नियंत्रण कक्ष की…

फ़िलहाल, 23 मई को होने वाली काउंटिंग में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से यादृच्छिक रूप से चुने गए पांच मतदान केंद्रों में वीवीपीएटी पेपर स्लिप को ईवीएम में दर्ज वोटों से मिलाकर देखा जाएगा.

इसके अलावा, सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को 23 मई को 17 वीं लोकसभा चुनावों की मतगणना के दौरान इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) के साथ वोटर वेरिफ़िएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) के 100 प्रतिशत मिलान की मांग वाली जनहित याचिका को खारिज कर दिया था.