Hindi Newsportal

नरेंद्र गिरि: सीएम योगी ने किये अंतिम दर्शन, पुलिस पूछताछ के दौरान महंत को फंदे से उतारने वाला शिष्य हुआ बेहोश

0 805

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि (70) की मौत को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। इस बीच उनके अंतिम दर्शन के लिए प्रयागराज पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने बताया कि अखाड़ा परिषद के सदस्यों की राय है कि नरेंद्र गिरि का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए आज बाघंबरी पीठ में ही रहेगा। उसके बाद कल पोस्टमॉर्टम होगा और फिर धार्मिक संस्कारों के अनुरूप उनकी समाधि का कार्यक्रम होगा।

नरेंद्र गिरि को कथित तौर पर किया जा रहा था ब्लैकमेल।

इधर इस मामले में मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नरेंद्र गिरि को ब्लैकमेल किया जा रहा था। उनके किसी वीडियो की सीडी तैयार की गई थी। पुलिस ने यह सीडी भी बरामद की है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि समाजवादी पार्टी (सपा) की सरकार में राज्य मंत्री का दर्जा पाने वाले एक नेता पर नरेंद्र गिरि को ब्लैकमेल करने का शक है।

योगी ने कहा- दोषियों को कड़ी सजा दी जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नरेंद्र गिरि की मृत्यु के मामले में कई सबूत जुटाए गए हैं और कई वरिष्ठ अधिकारी एक साथ मिलकर काम कर रहे हैं। एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा। जांच एजेंसियों को निष्पक्ष ढंग से काम को आगे बढ़ाने दें। जो भी जिम्मेदार होगा उसे कानून के दायरे में लाकर कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाएगी।

साधु संत चाहेंगे तो सीबीआई जांच होगी: मौर्य।

श्रद्धांजलि देने पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य ने अंतिम दर्शन के बाद कहा कि साधु संत चाहेंगे तो इस मामले की सीबीआई जांच होगी। कांग्रेस को हर चीज में राजनीति दिखती है। वहीं, मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जाएगा।

यह भी पढ़े: AAP का चुनावी सफर शुरू: केजरीवाल ने गोवा में युवाओं को सरकारी नौकरियां समेत किए यह बड़े वादे

महंत को फंदे से उतारने वाला शिष्य पूछताछ के दौरान बेहोश।

इधर दूसरी और इस मामले में जब पुलिस पूछताछ कर रही थी तब उनके उस शिष्य से भी पूछताछ की जा रही थी जिसने सबसे पहले उन्हें फंदे से लटका पाया था और शव को उतारा था। लकिन इस पूछताछ के दौरान शिष्य की अचानक तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गया।

आनंद गिरि के खिलाफ एफआईआर दर्ज ।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में उनके शिष्य आनंद गिरि के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। महंत के एक अन्य शिष्य अमर गिरी पवन महाराज की शिकायत के आधार पर यह प्राथमिकी दर्ज की गई है।

नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट में आनंद गिरि का जिक्र।

बता दे कि महंत नरेंद्र गिरि का शव बाघंबरी मठ के कमरे में लटका मिला था। IG रेंज केपी सिंह ने बताया कि मौके से 7 पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। इसे महंत नरेंद्र गिरि ने वसीयतनामे की तरह लिखा है और इसमें उनके शिष्य आनंद गिरि का भी जिक्र है। नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में यह जिक्र भी किया है कि किस शिष्य को क्या देना है? कितना देना है? साथ ही लिखा है कि वे अपने कुछ शिष्यों के व्यवहार से बहुत ही आहत और दुखी हैं और इसीलिए सुसाइड कर रहे हैं।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram