Hindi Newsportal

मोरबी ब्रिज हादसा: 140 साल पुराने मोरबी ब्रिज की मरम्मत करने वाली कंपनी पर FIR दर्ज

0 187

मोरबी ब्रिज हादसा: 140 साल पुराने मोरबी ब्रिज की मरम्मत करने वाली ओरेवा कंपनी और अन्य जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ आईपीसी की धाराओं 304, 308, 114 के तहत FIR दर्ज की गई है. गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी.

 

मोरबी के इस पुल की मरम्मत और रखरखाव का टेंडर हाल ही में ओरेवा नाम की कंपनी को मिला था. टेंडर की शर्तों के अनुसार कंपनी को मरम्मत के बाद अगले 15 सालों तक इस पुल का रखरखाव करना था. यह केबल सस्पेंशन ब्रिज 7 महीने की मरम्मत के बाद गत 26 अक्टूबर को पब्लिक के लिए खोला गया था.

 

बता दें कि राज्य की राजधानी अहमदाबाद से लगभग 300 किलोमीटर दूर स्थित सस्पेंशन ब्रिज रविवार शाम 6.42 बजे उस समय गिर गया जब छठ पूजा के लिए कुछ अनुष्ठान करने के लिए लगभग 500 लोग उस पर एकत्र हुए थे. अधिकारियों के अनुसार, पुल गिरने के बाद माचू नदी में गरकाव पीड़ितों को खोजने के लिए सेना, नौसेना, वायु सेना, एनडीआरएफ और फायर ब्रिगेड सहित टीमों ने रात भर तलाशी अभियान चलाया.

 

अब तक इस घटना में 134 लोगों की मौत हो चुकी है. जिनमें महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग शामिल हैं. घायलों का मोरबी सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा है. गुजरात सूचना विभाग ने यह जानकारी दी है. इस घटना की जानकारी के बाद आज राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने मोरबी में घटनास्थल का दौरा किया. वहीं गुजरात का दौरा कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया साथ ही इस दुखद घटना के मद्देनजर अहमदाबाद में अपना रोड शो रद्द करने का फैसला किया है.