Hindi Newsportal

बंगाल में अमित शाह का दावा- विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिलेंगी 200 से ज्यादा सीटें

0 999

गृह मंत्री अमित शाह की उपस्थिति में ममता बनर्जी के करीबी रहे शुभेंंदु अधिकारी ने बीजेपी जॉइन कर ली। इसके अलावा 9 विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं। इनमें से पांच टीएमसी में हैं। टीएमसी सांसद सुनील मंडल ने भी भाजपा की सदस्यता ले ली है।

मेदिनीपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री ने दावा किया कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी 200 से ज्यादा सीटें लेकर आएगी। शाह ने कहा “दीदी कहती हैं कि बीजेपी सभी दलों से दलबदल करती है। मैं दीदी को याद दिलाना चाहता हूं कि आपकी मूल पार्टी भी कांग्रेस ही थी। यह तो सुगबुगहाट है। जिस प्रकार की सुनामी मैं देख रहा हूं, वैसी ममता बनर्जी ने कल्पना भी नहीं की होगी।”

5 साल में हम बंगाल को सोनार बांग्ला बनायेंगे – भाजपा

कम्युनिस्ट पार्टी, कांग्रेस और तृणमूल छोड़कर भाजपा में आये सभी नेता और कार्यकर्ताओं का अमित शाह ने पार्टी में स्वागत किया। इस दौरान बंगाल की जनता से आह्वान किया कि आपने तीन दशक तक कांग्रेस को मौका दिया, कम्युनिस्टों को 34 साल मौका दिया, ममता दीदी को 10 साल दिये, अब 5 साल भाजपा को दे दीजिए, हम बंगाल को सोनार बांग्ला बनायेंगे।

बंगाल में विकास नहीं हुआ, तोलाबाजी बढ़ी, भ्रष्टाचार बढ़ा – शाह

अपने दौरे के दौरान मंच से शाह ने बोला कि आपने बंगाल के विकास का वादा किया था। विकास तो नहीं हुआ। तोलाबाजी बढ़ गयी। गुंडों को शरण मिल गयी। आपने भ्रष्टाचार मिटाने कावादा किया था, लेकिन मोदीजी ने केंद्र से जो बंगाल के विकास के लिए पैसे भेजे थे, तृणमूल के गुंडों की जेब में चले गये।

बता दे गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिमी मिदनापुर में खुदीराम बोस के जन्मस्थान पर उन्हें श्रद्धांजलि दी, उनके परिवार के सदस्यों से मिले और उन्हें सम्मानित किया। खुदीराम बोस के परिवार के सदस्य गोपाल बसु ने कहा, ‘बीजेपी ने हमें थोड़ी श्रद्धा दी है। किसी भी पिछली सरकार ने हमें इस तरह का सम्मान नहीं दिया। तृणमूल कांग्रेस भी नहीं।”

 

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव हैं। इलेक्शन से पहले भाजपा की तैयारियों का जायजा केंद्रीय गृहमंत्री और पार्टी के पूर्व चीफ अमित शाह शुक्रवार रात राज्य के दो दिवसीय दौरे पर हैं। इसी क्रम में और तृणमूल कांग्रेस चल रहे बगावत के दौर के बीच गृह मंत्री अमित शाह शुक्रवार रात कोलकाता पहुंचे।मिशन बंगाल के पहले दिन की शुरुआत उन्होंने रामकृष्ण आश्रम जाकर की। यहां उन्होंने रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि दी।

इस दौरान उन्होंने कहा कि यह वह जगह है, जहां विवेकानंदजी का जन्म हुआ था। उन्होंने आधुनिकता और आध्यात्मिकता को जोड़ा। मैं प्रार्थना करता हूं कि हम उनके बताए मार्ग पर चलने में सक्षम हों। शाह के साथ पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय मौजूद हैं।

बता दे पश्चिम बंगाल के चुनाव के लिए भाजपा ने कमर कस ली है और इसलिए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के कोरोना संक्रमित होने के बाद यहां का चुनावी मोर्चा खुद अमित शाह ने संभाला है और इसी क्रम में आज शाह मिदनापुर में आज एक रैली करेंगे।

ये भी पढ़े : कोरोना का आंकड़ा 1 करोड़ के पार, अब तक 1.45 लाख से ज्यादा ने गवाई इस वायरस से जान

आज ये है अमित शाह का कार्यक्रम।

  • बंगाल दौरे के पहले दिन शाह ने कोलकाता में श्री रामकृष्ण मिशन आश्रम में सुबह 10.45 बजे स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि दी।
  • अब दोपहर 12.30 बजे वह मिदनापुर में मां सिद्धेश्वरी मंदिर में पूजा की। इसके बाद उन्होंने यहीं स्वतंत्रता सेनानी खुदीराम बोस को श्रद्धांजलि दी और देवी महामाया मंदिर में पूजा की।
  • यहां से शाह मिदनापुर के बेलिजुरी गांव गएऔर यहां एक किसान परिवार के यहां खाना खाया।
  • 2.30 बजे वह मिदनापुर कॉलेज मैदान में एक रैली की।
  • शाम 7.30 बजे वह ‘द वेस्टिन’ कोलकाता में राज्य के केंद्रीय मंत्रियों, संगठन सचिवों, जोनल पर्यवेक्षकों और प्रदेश भाजपा महासचिवों के साथ चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करेंगे।

इसीलिए अहम है अमित शाह का दौरा।

दरअसल इस समय केंद्र और ममता सरकार के संबंध अच्छे नहीं चल रहे हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमला, भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले और राज्य के अधिकारियों से जवाब-तलब के कारण यह तल्खी ज्यादा बढ़ गई है। इसी बीच अमित शाह का दौरा अहम माना जा रहा है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram