Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: गलत जानकारी के साथ के वायरल हुआ वाराणसी में वोटों की कथित धांधली को लेकर इस व्यक्ति का वीडियो, जानें पूरा सच

0 616

फैक्ट चेक: गलत जानकारी के साथ के वायरल हुआ वाराणसी में वोटों की कथित धांधली को लेकर इस व्यक्ति का वीडियो, जानें पूरा सच

 

लोकसभा 2024 चुनावों के नतीजों के बाद सोशल मीडिया पर मंच पर भाषण देते एक व्यक्ति का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में व्यक्ति उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट पर चुनावों के दौरान स्थानीय जनता द्वारा डालें गए वोटों में कथित धांधली की बात बताते हुए नजर आ रहा है। वीडियो में व्यक्ति बतता है कि वाराणसी में 11 लाख लोगों ने वोट डाले ,EVM मशीन से निकले 12,87000 वोट निकले।

वीडियो में व्यक्ति कहता है कि “मैं नरेंद्र मोदी का उदाहरण बता रहा हूं, वाराणसी में नरेंद्र मोदी चुनाव लड़ रहे थे, मोदी के चुनाव में 11 लाख लोगों ने वोट डाले, मशीन से कितना निकलना चाहिए था ? 11 लाख… कितने निकले 12 लाख 87 हजार…यानि 1 लाख 87 हजार वोट नरेंद्र मोदी के चुनाव क्षेत्र वाराणसी से ज्यादा निकले।

इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर हालिया दिनों में शेयर कर दावा किया जा रहा है कि वाराणसी में वोटों में धांधली हुई है। फेसबुक पर वायरल वीडियो शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया कि “वाराणसी में 11 लाख लोगों ने वोट डाले ,EVM मशीन से निकले 12,87000 वोट, यह सब वैसे ही होता है जैसे एक करोड़ 7 लाख वोट , 11 दिनों बाद मशीन में बढ़ा दिए गए है,ये ₹240 सीट है इसी के बदौलत आई है, वरना 100 सीट पर सिमटना तय था??? क्या इंक्वारी कभी होगी?

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो में बताए जा रहे तथ्य गलत हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने पड़ताल की। सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो मनीष चौबे नामक एक एक्स यूज़र की प्रोफइल पर वायरल मिला, जिसे अप्रैल 07, 2024 को अपलोड किया गया था। यहाँ यूज़र ने वायरल वीडियो को अपलोड करते हुए कैप्शन में जानकारी दी कि वीडियो में व्यक्ति साल 2019 के लोकसभा चुनावों की बात कर रहा है।

कैप्शन में यूज़र ने लिखा कि “EVM का सबसे बड़ा सबूत ये  रहा 2019 में वाराणसी में EVM कैसे जीते मिली , इसका सबसे बड़ा सबूत देखें ,, 11 लाख वोटर थे ,EVM मैं वोट निकले 12 लाख 87000 वोट गिनती किए गए?”

गौरतलब है कि लोकसभा 2024 के चुनावों के दौरान वाराणसी में आखिरी व सातवें चरण में वोटिंग हुई थी, यानी वाराणसी में इस बार 1 जून को वोट डाले गए थे। इसलिए उपरोक्त प्राप्त पोस्ट से यह साफ़ हो गया कि वायरल वीडियो में व्यत्कि साल 2019 में हुई वोटिंग की बात कर रहा है।

इसलिए इस मामले की पूरी जानकारी के लिए हमने गूगल पर एक बार फिर बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो से संबंधित ECI (इलेक्शन कमीशन ऑफ़ इंडिया) का ट्वीट भी मिला जहां उन्होंने वायरल वीडियो को पूर्णतः गलत बताया है।

 

इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने अपने ट्वीट में आगे लिखा- वाराणसी में कुल मतदाता 18,56,791 थे। ईवीएम में डाले गए और गिने गए कुल वोट-10,58,744 और डाक वोट-2085 थे।

इसके बाद हमने ECI की वेबसाइट पर भी इस मामले में जानकारी प्राप्त करने के लिए खोजा। जहां हमने जाना कि, वाराणसी में 2019 लोकसभा चुनाव के समय कुल मतदाताओं की संख्या 18 लाख 56 हजार 791 थी। जबकि वोटिंग के दौरान, कुल 10 लाख 60 हजार 829 वोट डाले गए थे।

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो में साल 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान उत्तर प्रदेश के वाराणसी लोकसभा सीट की बात की जा रही है। जो पूरी तरह से गलत है।