Hindi Newsportal

तीसरी बार पीएम बनने के बाद पहली बार संसदीय क्षेत्र पहुंचें पीएम मोदी, जारी की किसान सम्मान निधी की 17वीं क़िस्त  

0 439
तीसरी बार पीएम बनने के बाद पहली बार संसदीय क्षेत्र पहुंचें पीएम मोदी, जारी की किसान सम्मान निधी की 17वीं क़िस्त  

 

देश के तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद नरेंद्र मोदी आज मंगलवार को पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचें हैं। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनका स्वागत किया। पीएम मोदी ने वाराणसी में आज किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त जारी की वहीं कृषि सखी प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण पाने वाली कृषि सखियों को प्रमाणपत्र भी बांटें।

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम का संबोधन करते हुए कहा कि चुनाव जीतने के बाद आज हम पहली बार बनारस आया हूं। मैं बनारस की जनता को नमस्कार करता हूं…काशीवासियों के असीम स्नेह से मुझे तीसरी बार देश का प्रधान सेवक बनने का सौभाग्य मिला है। काशी के लोगों के मुझे लगातार तीसरी बार अपना प्रतिनिधि चुनकर मुझे धन्य कर दिया है। अब तो मां गंगा ने भी जैसे मुझे गोद ले लिया है, मैं यहीं का हो गया हूं।

उन्होंने कहा कि काशी के लोगों ने तो सिर्फ सांसद नहीं बल्कि तीसरी बार प्रधानमंत्री भी चुना है इसलिए आप लोगों को डबल बधाई। इस चुनाव में देश के लोगों ने अभूतपूर्व जनादेश दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “यहां इतनी बड़ी संख्या में हमारी माताएं-बहनें उपस्थित हैं। माताओं-बहनों के बिना खेती की कल्पना भी असंभव है। इसलिए अब खेती को नई दिशा देने में भी माताओं-बहनों की भूमिका का विस्तार किया जा रहा है। नमो ड्रोन दीदी की तरह ही कृषि सखी कार्यक्रम ऐसा ही एक प्रयास है। हमने आशा कार्यकर्ताओं के रूप में बहनों का काम देखा है। हमने बैंक सखियों के रूप में डिजिटल इंडिया बनाने में बहनों की भूमिका देखी है। अब हम कृषि सखी के रूप में खेती को नई ताकत मिलती देखेंगे। आज 30 हजार से अधिक सहायता समूहों को कृषि सखी के रूप में प्रमाणपत्र दिए गए हैं। अभी 12 राज्यों में ये योजना शुरू हुई है। आने वाले समय में पूरे देश में हजारों समूहों को इससे जोड़ा जाएगा। ये अभियान 3 करोड़ लखपति दीदीयां बनाने में भी मदद करेगा।”

जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, “अभी मैं जी7 की बैठक में हिस्सा लेने के लिए इटली गया था। G7 के सारे देशों के सभी मतदाताओं को मिला दें, तो भी भारत में वोटर्स की संख्या 1.5 गुना ज्यादा होगी…”

पीएम मोदी से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “हम सब ने बदलती हुई काशी को देखा है। एक काशी जो आज एक नए क्लेवर और नई काया के साथ दुनिया भर में अपनी नई आध्यात्मिक और सांस्कृतिक पहचान बना रही है… पिछले 10 वर्ष में इस नई काशी के कायाकल्प में न सिर्फ हजारों-करोड़ों रुपए लगे हैं बल्कि दुनिया ने इसे बदलते हुए देखा है…”

वहीं केंद्रीय मंत्री शिवराज सिंह चौहान बोले कि,  “कृषि भारतीय अर्थव्यवस्था की रीड़ है और किसान उसकी आत्मा है। भाजपा का मानना है कि किसान भगवान है और किसान की सेवा भगवान की पूजा है… किसान और खेती के प्रति प्रधानमंत्री मोदी और हमारी सरकार की प्रतिबद्धता है कि उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद अगर कोई पहली फाइल साइन की तो किसान सम्मान निधि को किसानों के खाते में डालने की फाइल साइन की…”