Hindi Newsportal

जानिए लाल किले के प्राचीर से पीएम के भाषण की 10 ख़ास बातें !

0 492

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित किया. ये छठा मौका है जब पीएम ने लालकिले से तिरंगा फहराया है.

लाल किले पर पहुंचने से पहले मोदी राजघाट गए और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में देशव़ासियों को स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन की बधाई दी.

उन्होंने देश के कई हिस्सों में आई बाढ़ पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि लोगों की कठिनाइयों को कम करने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं.

पूरे संबोधन में उनका फोकस जल संकट, विकास और नई सरकार के एजेंडे पर रहा. इसके साथ ही पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौरान किसानों, प्राकृतिक आपदा के पीड़ितों, डॉक्टरों, मुस्लिम महिलाओं समेत कई मुख्य बिंदुओं का जिक्र किया.

लालकिले से प्रधानमंत्री के भाषण की बड़ी बातें:

1. अनुच्छेद 370 : प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों में कोई ना कोई ऐसा व्यक्ति है, जो अनुच्छेद 370 के खिलाफ या तो प्रखर रूप से या फिर मुखर रूप से बोला है. लेकिन जो लोग इसकी वकालत कर रहे हैं उनसे देश पूछ रहा है कि ये इतना जरूरी था, तो 70 साल में आपने इन्हें क्यों अस्थाई बना रखा था. जो काम 70 साल में नहीं हुआ वो हमारी सरकार ने सत्तर दिन में कर दिया. संसद के दोनों सदनों ने दो तिहाई बहुमत से इस पर फैसला लिया.

2. चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ : तीनों सेनाओं में तालमेल को बढ़ाने के लिए अब उनका एक सेनापति बनाया जाएगा. जिसे ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ’ (CDS) कहा जाएगा. सेना के इतिहास में ये पद पहली बार बनाया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी पूरी सैन्य शक्ति को एक मुस्त होकर एक साथ आग बढ़ने में काम करना होगा. अब हम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानी सीडीएस की व्यवस्था करेंगे. इस पद के गठन के बाद तीनों सेनाओं के शीर्ष स्तर एक प्रभावी नेतृत्व मिलेगा.

3. अनुच्छेद 370, 35ए: नयी सरकार को 10 हफ्ते भी नहीं हुए हैं, लेकिन इस छोटे से कार्यकाल में सभी क्षेत्रों में हर प्रयास को बल दिए गए हैं, हम पूरे समर्पण के साथ सेवारत हैं. 3. 10 हफ्ते के भीतर ही अनुच्छेद 370, 35ए का हटना सरदार वल्लभ भाई पटेल के सपनों को साकार करने में एक कदम है. PM ने कहा कि मुस्लिम बहनों के हित के लिए तीन तलाक को खत्म किया गया और बिल लाया गया. अगर 2014 से 2019 आवश्यकताओं की पूर्ती का दौर था तो 2019 के बाद का कालखंड देशवासियों की आकांक्षाओं की पूर्ति का कालखंड है, उनके सपनों को पूरा करने का कालखंड है.

ALSO READ: सेना को लेकर पीएम मोदी का बड़ा ऐलान, कहा तीनों सेनाओं का अब होगा एक प्रमुख

4. ‘सबका साथ, सबका विकास’: किसानों और छोटे व्यापारियों को 60 वर्ष की आयु के बाद आर्थिक सहारा देने के लिए पेंशन का प्रावधान किया गया है. जल संकट से निपटने के लिए, केंद्र और राज्य सरकार मिलकर योजनाएं बनाएं, इसके लिए एक अलग जल शक्ति मंत्रालय का गठन किया गया है. ‘सबका साथ, सबका विकास’ का मंत्र लेकर हम चले थे लेकिन 5 साल में ही देशवासियों ने ‘सबका विश्वास’ के रंग से पूरे माहौल को रंग दिया.

5. तीन तलाक: PM मोदी ने कहा कि देश की मुस्लिम बेटियां डरी हुई जिंदगी जी रही थीं, भले ही वो तीन तलाक की शिकार नहीं बनी हों लेकिन उनके मन में डर रहता था. तीन तलाक को इस्लामिक देशों ने ही खत्म कर दिया था, तो हमने क्यों नहीं किया. अगर देश में दहेज, भ्रूण हत्या के खिलाफ कानून बना सकते हैं तो तीन तलाक के खिलाफ क्यों नहीं.

6. हर घर जल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से हर घर जल मिशन का ऐलान करते हुए कहा कि हमारी सरकार ने देश में गरीबी कम करने की दिशा में आगे कदम बढ़ाए हैं. पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक हर दल की सरकार ने देश की भलाई में कुछ ना कुछ किया है, लेकिन अभी भी 50 फीसदी लोगों के घरों में पीने का पानी उपलब्ध नहीं है. लोगों को पीने के पानी के लिए कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. पीएम ने इस दौरान जल जीवन मिशन का ऐलान किया और साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये के बजट का ऐलान किया.

7. जनसंख्या विस्फोट: पीएम ने बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जताई, उन्होंने कहा कि हमें इस विषय को लेकर आने वाली पीढ़ि के लिए सोचना होगा. सीमित परिवार से ना सिर्फ खुद का बल्कि देश का भी भला होने वाला है. पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग इस विषय पर आगे कदम बढ़ा चुके हैं और सीमित परिवार के फायदे को लोगों को समझा रहे हैं उन्हें आज सम्मानित करने की जरूरत है. छोटा परिवार रखने वाले देशभक्त की तरह हैं. घर में किसी भी बच्चे के आने से पहले सोचें कि क्या हम उसके लिए तैयार हैं, उसकी जरूरतों को पूरा करने के लिए हम तैयार हैं.

8. पॉलीथीन का कम इस्तेमाल : प्रधानमंत्री ने इस दौरान लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह पॉलीथीन का इस्तेमाल ना करें और दुकानदारों से भी ऐसा ही करने को कहा. उन्होंने कहा कि आप थैले का इस्तेमाल करना चाहिए. 2 अक्टूबर से प्लास्टिक रोकने के काम को आगे बढ़ाना होगा. साथ ही प्रधानमंत्री ने अपने देशी प्रोडक्ट को बढ़ावा देने की बात कही.

9. टूरिज्म को बढ़ावा : प्रधानमंत्री ने कहा कि आप दुनिया घूमने जाते हैं लेकिन अब तय करें कि 2022 से पहले अपने देश की 15 टूरिस्ट जगह पर जाएंगे. आप जब अपने देश में घूमेंगे तो दुनिया को खूबसूरती बता पाएंगे.

10. भ्रष्टाचार का खात्मा: पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि हम आजादी के 75 साल मनाने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा कि व्यवस्था में बदलाव होना जरूरी है और ये भ्रष्टाचार से मुक्त होनी चाहिए. हमारे इस मिशन में जो रुकावट बन रहे थे, हमने उनकी छुट्टी कर दी और कहा कि आपका रास्ता अलग है. देश में भाई-भतीजावाद एक दीमक की तरह है, इस बीमारी को भगाना जरूरी है.