Hindi Newsportal

आम आदमी पार्टी के सांसद ‘संजय सिंह’ को राज्यसभा से पूरे सत्र के लिए किया गया निलंबित

फाइल इमेज: संजय सिंह
0 635
आम आदमी पार्टी के सांसद ‘संजय सिंह’ को राज्यसभा से पूरे सत्र के लिए किया गया निलंबित

 

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह को आज यानी सोमवार को राज्यसभा से पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है। राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने कहा कि बार-बार मना करने के बाद भी सदन की कार्यवाही में बाधा डालने के लिए संजय सिंह को पूरे सत्र के लिए निलंबित किया जाता है। उन्हें पूरे मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है। राज्यसभा सभापति ने यह कार्यवाई पीयूष गोयल की शिकायत पर की।

राज्यसभा से निलंबित किए जाने के बाद आप सांसद संजय सिंह ने मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री सदन में आकर मणिपुर की हिंसा पर जवाब क्यों नहीं दे रहे हैं। एक कारगिल के योद्धा की पत्नी को नंगाकर परेड कराया गया। भारत के 140 करोड़ लोगों का सर शर्म से झुक गया है। लेकिन प्रधानमंत्री सदन में आकर जवाब देने के लिए तैयार नहीं है।

कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने भी सांसद संजय सिंह का साथ देते हुए कहा कि भारत में जितने राजनीतिक दल हैं वे सब संजय सिंह के साथ हैं। सभी (राजनीतिक दल) के प्रतिनिधि यहां मौजूद हैं। हम सब संजय सिहं जी के साथ गांधी जी की प्रतिमा के पास जाकर विरोध करेंगे।

मणिपुर हिंसा पर हंगामे के बीच 20 जुलाई को मानसून सत्र शुरू हुआ, जिसमें विपक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मणिपुर में दो कुकी समुदाय की महिलाओं के साथ हुई हैवानियत पर सदन के अंदर बयान देने की मांग की।

इससे पहले रविवार को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा था कि वह संसद की कार्यवाही से भाग रहा है। अनुराग ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘सरकार मणिपुर पर चर्चा के लिए तैयार है लेकिन विपक्ष इससे बच रहा है। वह संसद की कार्यवाही से भी भाग रहे हैं। उनकी मजबूरी क्या है? वे सुर्खियों में तो रहना चाहते हैं लेकिन चर्चा में नहीं रहना चाहते.”

इस बीच, विपक्षी दलों का गठबंधन,  Indian National Developmental Inclusive Alliance (INDIA) सोमवार को संसद में विरोध प्रदर्शन किया। इसके जवाब में, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भी राजस्थान और पश्चिम बंगाल के साथ-साथ अन्य राज्यों में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार को लेकर संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन की योजना बनाई है।