Hindi Newsportal

ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तीन साल पुराना वीडियो

0 1,667

ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे से जोड़कर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तीन साल पुराना वीडियो

 

सोशल मीडिया पर एक जुलूस का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में भगवा रंग के कपड़े पहने हुए कुछ लोगों को डमरू-मंजीरे की ध्वनि पर नाचते हुए देखा जा सकता हैं। इसी वीडियो को सोशल मीडिया शेयर कर दावा किया जा रहा है कि ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने पर बनारस के लोग सड़क पर जश्न मना रहे हैं। इसी वीडियो को फेसबुक पर शेयर कर कैप्शन में लिखा गया है कि,” बाबा मिल गए के खुशी में बनारस के हर एक गली में उत्सव का माहौल है, बम बम बोल रहा है पूरा काशी डोल रहा है, हर हर महादेव।”

 

  

फेसबुक पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

बता दें कुछ दिन पहले ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में शिवलिंग मिलने का दावा किया गया था जिसके बाद सोमवार को एक स्थानीय अदालत ने सुनवाई करते हुए ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के उस हिस्से को सील करने का आदेश दे दिया था।  इसी के बाद से सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है।

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में पता चला वायरल वीडियो तीन साल पुराना है।

इंटरनेट पर वायरल हो रहे वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने पड़ताल की।  पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वीडियो को InVid टूल की सहायता से कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज टूल तथा कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो से मेल खाती एक तस्वीर फेसबुक के mahashivratri2021 नामक प्रोफाइल के पोस्ट पर मिली, जिसे जून 11,2021 को किया गया था।

 

प्राप्त पोस्ट में यूट्यूब का एक लिंक भी दिया गया था। जहां यह वीडियो पोस्ट किया गया था। बता दें यूट्यूब पर यह वीडियो Abhishek Srivastav नामक यूट्यूब चैनल पर मिला। जिसे अगस्त 12, 2019 को अपलोड किया गया था। वीडियो के कैप्शन में लिखा गया था Manjira damroo juloos।

हालांकि प्राप्त वीडियो में वीडियो कोई खास जानकारी नहीं दी गयी थी, लेकिन साल 2019 में अभिषेक श्रीवास्तव नामक यूट्यूब यूज़र द्वारा पोस्ट किए गए इस वीडियो से यह साफ़ हो गया कि यह वीडियो मौजूदा दिनों का बल्कि साल 2019 के दौरान हैं।

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से पता चला कि वायरल वीडियो का ज्ञानवापी मस्जिद वाले मुद्दे से कोई संबंध नहीं है। वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2019 के दौरान का है।