Hindi Newsportal

जम्मू-कश्मीर: स्वतंत्रता दिवस से पहले कश्मीर में जैश के 4 आतंकी गिरफ्तार, बड़े धमाके की थी योजना; अयोध्या भी था निशाने पर

File Image
0 343

स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त से ठीक एक दिन पहले आज सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है।दरअसल आज पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। इसमें चार आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार गिरफ्तार आतंकियों में से एक उत्तर प्रदेश के शामली का रहने वाला है, जिसकी पहचान इजहार खान के रूप में हुई है। इधर इस बड़े खुलासे के बाद यह भी बात सामने आई है कि पाकिस्तान में बैठे जैश कमांडर मुनाज़ीर ने उसे अमृतसर के पास से हथियार इकट्ठा करने के लिए कहा था।

15 अगस्त से पहले जम्मू में एक आईईडी लगाने की थी साजिश।

पुलिस के मुताबिक, ये 15 अगस्त से पहले जम्मू में एक आईईडी लगाने की साजिश रच रहे थे और देश के अन्य हिस्सों में महत्वपूर्ण जगह भी इनके नापाक इरादों के निशाने पर थे।

एक मैगजीन, आठ जिंदा राउंड कारतूस समेत यह सब हुआ बरामद

पुलिस ने सबसे पहले पुलवामा के प्रिचू इलाके के मुंतजिर मंजूर को गिरफ्तार किया। उसके पास से एक पिस्तौल, एक मैगजीन, आठ जिंदा राउंड कारतूस और दो चीनी हथगोले बरामद किए गए। कश्मीर घाटी में हथियारों के परिवहन के लिए कथित तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले एक ट्रक को भी जब्त कर लिया गया है। मुंतजिर मंजूर की गिरफ्तारी के बाद जैश के तीन अन्य आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया।

आतंकियों के एजेंडे में था पानीपत ऑयल रिफाइनरी और अयोध्या।

पूछताछ के दौरान, आतंकवादियों में से एक इजहार खान ने पुलिस को जानकारी दी कि पाकिस्तान में एक जैश कमांडर, जिसकी पहचान उसने मुनाज़ीर उर्फ ​​शाहिद के रूप में की थी, ने उसे पंजाब से हथियार इकट्ठा करने के लिए कहा था जिसे ड्रोन के जरिए गिराया जाएगा।उन्होंने कहा कि जैश कमांडर ने उन्हें पानीपत तेल रिफाइनरी की रेकी करने को कहा था। इतना ही नहीं, उन्होंने पाकिस्तान में अपने कमांडर को रिफाइनरी के वीडियो भेजे थे। आतंकवादी ने यह तक जानकारी दी कि उसे तब अयोध्या राम जन्मभूमि की रेकी करने का काम सौंपा गया था, लेकिन उससे पहले उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

मोटइसाइकिल आईईडी से होता हमला ।

बता दे एक अन्य गिरफ्तार आतंकवादी, जिसकी पहचान शोपियां के तौसीफ अहमद शाह के रूप में हुई, ने पुलिस को बताया कि उसका काम जम्मू में घर लेना और फिर एक सेकेंड हैंड मोटरसाइकिल खरीदना था, जिसका इस्तेमाल जम्मू में एक आईईडी विस्फोट के लिए किया जाना था।

हाई अलर्ट पर सुरक्षा।

बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर समेत देश के सभी प्रमुख शहरों में पुलिस स्‍वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सुरक्षा को लेकर चाक-चौबंद है। वहीं जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबल लगातार आतंकियों के खिलाफ सर्च अभियान चला रहे हैं और उनकी साजिशों को नाकाम कर रहे हैं। इस दौरान आतंकियों के पास से बड़े पैमाने पर हथियार भी बरामद हो रहे हैं।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram