Hindi Newsportal

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पीएम मोदी ने मैसूर पैलेस ग्राउंड पर किया योग, केंद्रीय मंत्रियों और कई मुख्यमंत्रियों ने भी योग दिवस में हिस्सा लिया

0 175

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पीएम मोदी ने मैसूर पैलेस ग्राउंड पर किया योग, केंद्रीय मंत्रियों और कई मुख्यमंत्रियों ने भी योग दिवस में हिस्सा लिया

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक दौरे के अपने अंतिम दिन 8वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मौसूरु पैलेस मैदान में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया।  इस दौरान कार्यक्रम में करीब 15000 लोगों ने प्रधानमंत्री के साथ योग अभ्यास किया। योग शुरू करने से पहले कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने देश और दुनिया को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बधाई दी।

दुनिया भर में आज अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 8वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर कर्नाटक के मैसूर पैलेस मैदान में एक सामूहिक योग कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे हैं। आज के दिन दुनिया भर में लगभग 25 करोड़ लोगों के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने की उम्मीद है। योग दिवस के मौके पर भाजपा 75,000 स्थानों पर योग कार्यक्रम आयोजित करेगी। पीएम के अलावा सभी केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री और बीजेपी के सभी पदाधिकारी देश के विभिन्न जगहों पर योग दिवस के मौके पर कार्यक्रम में शरीक होंगे। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को 185 से ज्यादा देशों ने प्राथमिक तौर पर समर्थन किया है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल 

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 

 

जाने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास 

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक योग दिवस को मनाये जाने की पहल की थी उनके इस प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्वीकार कर लिया और 90 दिनों के अंदर ही हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का ऐलान कर दिया गया। पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस साल 2015 में, 21 जून को मनाया गया था, जिसका नेतृत्व भारत ने किया था। 35 हजार से अधिक लोगों ने दिल्ली के राजपथ पर योगासन किया, जिसमें 84 देशों के प्रतिनिधि शामिल थे। यह इवेंट गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है।

21 को जून को ही क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, जाने   

21 जून को उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन होता है, जिसे लोग ग्रीष्म संक्रांति भी कहते हैं। भारतीय परंपरा के मुताबिक, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन होता है। माना जाता है कि सूर्य दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने के लिए फायदेमंद है. इसी को देखते हुए योगा दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है।