Hindi Newsportal

G20 शिखर सम्मेलन: भारत मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द ही किया जाएगा लॉन्च, पढ़ें अबतक की अपडेट

0 693
G20 शिखर सम्मेलन के लिए दिल्ली के भारत मंडपम पहुंचे फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन, पढ़ें अबतक की अपडेट

 

भारत के लिए बड़ा दिन है। आज यानी शनिवार को 18वां जी20 शिखर सम्मेलन नई दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में हो रहा है। इस बार जी20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता भारत कर रहा है। गौरतलब है कि इस वर्ष के G20 शिखर सम्मेलन का विषय, “वसुधैव कुटुम्बकम” या “एक पृथ्वी – एक परिवार – एक भविष्य” है, जो महा उपनिषद के प्राचीन संस्कृत पाठ से लिया गया है।

सूत्रों के मुताबिक, भारत मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द ही लॉन्च किया जाएगा। यह भारत, यूएई, सऊदी अरब, EU, फ्रांस, इटली, जर्मनी और अमेरिका को शामिल करते हुए कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे को लेकर सहयोग पर एक पहल होगी। कॉरिडोर और वैश्विक बुनियादी ढांचे और निवेश के लिए साझेदारी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “मेरे मित्र राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ मुझे इस आयोजन की अध्यक्षता करते हुए बहुत खुशी हो रही है। आज हम सबने एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक समझौता संपन्न होते हुए देखा है। आने वाले समय में भारत पश्चिम एशिया और यूरोप के बीच आर्थिक एकीकरण का प्रभावी माध्यम होगा। ये पूरे विश्व में कनेक्टिविटी और विकास को टिकाऊ दिशा प्रदान करेगा।”

वही अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन ने प्रधान मंत्री मोदी का धन्यवाद करते हुए कहा, “यह बड़ा समझौता है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देना चाहता हूं। वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर यही G-20 शिखर सम्मेलन का फोकस है। और कई मायनों में यह इस साझेदारी का फोकस भी है जिसके बारे में हम आज बात कर रहे हैं। टिकाऊ, स्थिति-स्थापक बुनियादी ढांचे का निर्माण, गुणवत्तापूर्ण बुनियादी ढांचे में निवेश और बेहतर भविष्य का निर्माण। आज मैं उन प्रमुख तरीकों पर प्रकाश डालना चाहता हूं जिनसे संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे साझेदार इसे वास्तविकता बनाने के लिए काम कर रहे हैं ।”

पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस’ का शुभारंभ किया। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन, ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज़ इनासियो, अर्जेंटीना के राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज और इटली के प्रधान मंत्री जियोर्जिया मेलोनी की उपस्तिथि देखने को मिली।

ऐसे में दुनिया के कई देशों से राष्ट्राध्यक्ष सम्मेलन में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंचे। इस मौके पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन दिल्ली के प्रगति मैदान में जी 20 शिखर सम्मेलन के आयोजन स्थल भारत मंडपम पहुंचे।

अब तक की पूरी अपडेट :

 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में भारत की अध्यक्ष्ता में आयोजित G20 के 18वें शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 के बाद विश्व में एक बहुत बड़ा संकट विश्वास के आभाव का आया है। युद्ध ने इसको और गहरा किया है। जब हम कोविड को हरा सकते हैं तो हम आपसी विश्वास में आए इस संकट पर भी विजय प्राप्त कर सकते हैं… यह हम सबका साथ चलने का समय है इसलिए सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास का मंत्र हम सबके लिए पथ प्रदर्शक बन सकता है। वैश्विव अर्थव्यवस्था में उथल-पुथल हो, उत्तर और दक्षिण में डिवाइड हो, पूर्व और पश्चिम की दूरी हो, भोजन, ईंधन और उर्वरक का प्रबंधन हो, आतंकवाद साइबर सुरक्षा, स्वास्थ्य, ऊर्जा या जल सुरक्षा, हमें भावी पीढ़ियों के लिए इसका ठोस समाधान ढूंढना होगा

 

 

कोमोरोस संघ के अध्यक्ष और अफ्रीकी संघ (एयू) के अध्यक्ष, अज़ाली असौमानी ने G 20 का स्थायी सदस्य बनने पर अपना स्थान ग्रहण किया।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं आप सबकी सहमती से आगे की कार्रवाई शुरू करने से पहले मैं अफ्रीकन यूनियन अध्यक्ष को G 20 के स्थाई सदस्य के रूप में अपना स्थान ग्रहण करने के लिए आमंत्रित करता हूं।

अपने सम्बोधन में पीएम मोदी ने कहा कि कुछ देर पहले मोरक्को में आए भूकंप से प्रभावित लोगों के प्रति में अपनी संवेदना प्रकट करना चाहता हूं। हम प्रार्थना करते हैं कि सभी घायल लोग शीघ्र स्वस्थ हों। इस कठिन समय में पूरा विश्व समुदाय मोरक्को के साथ है। हम उन्हें हर संभव सहायता पहुंचाने के लिए तैयार हैं।

 

 

  • जी20 शिखर सम्मेलन स्थल पर पहुंचे पीएम मोदी।

 

  • राष्ट्रपति बाइडेन ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र में चंद्रयान -3 की ऐतिहासिक लैंडिंग के साथ-साथ भारत के पहले सूर्य मिशन, आदित्य-एल 1 के सफल प्रक्षेपण पर प्रधान मंत्री मोदी और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को बधाई दी।
  • अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने के तुरंत बाद पीएम मोदी से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय बैठक की।
विश्व नेताओं के साथ 15 से अधिक द्विपक्षीय बैठकें करेंगे पीएम मोदी :

 

  • 8 सितंबर को पीएम मोदी मॉरीशस, बांग्लादेश और अमेरिका के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे।
  •  9 सितंबर को जी20 शिखर सम्मेलन के अलावा प्रधानमंत्री ब्रिटेन, जापान, जर्मनी और इटली के साथ द्विपक्षीय बैठकें करेंगे।
  • 10 सितंबर को पीएम मोदी फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ वर्किंग लंच मीटिंग करेंगे।
  • एएनआई सूत्रों ने कहा कि वह कनाडा के साथ एक अलग बैठक और कोमोरोस, तुर्किये, संयुक्त अरब अमीरात, दक्षिण कोरिया, ईयू/ईसी, ब्राजील और नाइजीरिया के साथ द्विपक्षीय बैठकें करेंगे।