Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: गलत सन्दर्भ में वायरल हो रही है सीएम अरविन्द केजरीवाल और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की पुरानी तस्वीर, जाने पूरा सच 

0 539
  • फैक्ट चेक: गलत सन्दर्भ में वायरल हो रही है सीएम अरविन्द केजरीवाल और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की पुरानी तस्वीर, जाने पूरा सच 

 

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल है, इस तस्वीर में दिल्ली सीएम अरविन्द केजरीवाल और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को एक साथ बैठे हुए देखा जा सकता है। इसी तस्वीर को इन दिनों सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर उस दौरान की है, जब सीएम अरविन्द केजरीवाल ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पर झूठे आरोप लगाने के बाद उनसे माफ़ी थी।

फेसबुक पर वायरल तस्वीर को अंग्रेजी भाषा के कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है। कैप्शन में लिख गया है कि, “This is a historic picture of Kejriwal submitting written apology to Nitin Gadkari for making false allegations!” 

हिंदी अनुवाद-  ‘झूठे आरोप लगाने के बाद नितिन गडकरी से लिखित माफी मांगते हुए केजरीवाल की यह ऐतिहासिक तस्वीर है!’  

फेसबुक का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक:  

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल तस्वीर गलत संदर्भ में वायरल हो रही है।

वायरल तस्वीर के साथ शेयर किए जा रहे दावे को पढ़ने पर हमें इसके गलत होने आशंका हुई। जिसके बाद हमने अपनी पड़ताल शुरू की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल तस्वीर को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल तस्वीर गेट्टी इमेज.कॉम नामक वेबसाइट पर प्राप्त हुई।  बता दें वेबसाइट पर सितंबर 16, 2014 को वायरल तस्वीर को अपलोड की गयी थी।

वेबसाइट पर वायरल तस्वीर के साथ दिए गए कैप्शन के मुताबिक उक्त तस्वीर उस दौरान की है जब आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी 16 सितंबर, 2014 को नई दिल्ली, भारत में परिवहन भवन में ई-रिक्शा को नियमित करने पर एक बैठक की थी।

कैप्शन में आगे जानकारी दी गयी थी कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने पिछले हफ्ते कहा था कि दिल्ली में “अवैध” ई-रिक्शा चलाने पर प्रतिबंध तब तक जारी रहेगा, जब तक कि उन्हें मोटर वाहन अधिनियम के दायरे में लाने के लिए कानून में संशोधन नहीं किया जाता है। यह कहते हुए कि जो कानून द्वारा निषिद्ध है, उसकी अनुमति नहीं है। ”

इसी जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर तस्वीर की पुष्टि के लिए और बारीकी से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें वायरल तस्वीर से मेल खाती एक दूसरी तस्वीर न्यूज़ एजेंसी ANI के ट्विटर हैंडल पर मिली।

यहाँ भी तस्वीर की जानकारी देते हुए बताया गया है कि वायरल तस्वीर सितंबर 16, 2014 की है जब दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल इ-रिक्शे के मामले को लेकर केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मिले थे।

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमें पता चला कि वायरल तस्वीर की भ्रामक दावे के साथ सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल की जा रही है।