Hindi Newsportal

Delhi Cantt Case: दिल्ली सीएम ने किया 10 लाख मुआवज़े का एलान, राहुल गाँधी भी मिले पीड़ित परिवार से; बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आयी सामने

0 258

दिल्ली में एक 9 साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उसकी हत्या के मामले में सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीड़ित परिवार के लिए 10 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बच्ची को न्याय दिलाने के लिए सरकार अच्छे से अच्छा वकील हायर करेगी। इस केस की बात करे तो पीड़ित परिवार की शिकायत के बाद पुजारी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था। इधर बच्‍ची से कथित रेप और हत्‍या का मामला अब तूल पकड़ने लगा है क्युकी इस घटना के विरोध में पीड़ित परिवार के साथ ही स्‍थानीय लोग श्‍मशान घाट के बाहर धरने पर बैठे हैं।

दिल्ली सीएम ने आज ही जा कर की मुलाकात।

बता दे आज तड़के दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज पीड़िता के परिवार से जाकर मिले। उन्होंने कहा, जो बच्ची के साथ अन्याय हुआ है वह बेहद दुखद है। बच्ची को वापस नहीं लाया जा सकता लेकिन दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है।

राजधानी में ऐसी घटनाए नहीं देती अच्छा सन्देश – दिल्ली सीएम।

केजरीवाल ने आगे कहा कि दिल्ली के अंदर कानून व्यवस्था को ठीक करने की बेहद आवश्यकता है। कानून व्यवस्था को सुधारने की बहुत जरूरत है। केंद्र सरकार से अपील है कि इस मामले में सख्त कदम उठाए, दिल्ली सरकार उनका पूरा सहयोग करेगी। दिल्ली देश की राजधानी है, यहां यदि इस तरह की घटनाएं घटती हैं तो यह मैसेज दुनिया के अंदर अच्छा नहीं जाता है इससे लोग असुरक्षित महसूस करते हैं।

राहुल गाँधी ने भी पीड़ित परिवार से की मुलाकात।

इस बीच, कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी आज सुबह धरना स्थल पर पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की। प्रदर्शन स्‍थल पर भीड़ ज्‍यादा होने के कारण राहुल गांधी ने गाड़ी के अंदर बिठाकर पीड़िता के माता-पिता से बात की। राहुल गांधी ने घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट किया कि माता-पिता के आंसू सिर्फ एक बात कह रहे हैं। उनकी बेटी… देश की बेटी न्याय की हकदार है। राहुल गांधी ने कहा कि न्याय के रास्ते पर वह पीड़ित परिवार (Victim Family) के साथ हैं।

एनसीपीसीआर ने मामले में लिया स्वत: संज्ञान।

दिल्ली के नांगला में नौ वर्षीय बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (एनसीपीसीआर) ने स्वतः संज्ञान लिया है। एनसीपीसीआर ने दक्षिण पश्चिम दिल्ली के डीसीपी को पत्र लिखकर इस मामले में एक विस्तृत रिपोर्ट 48 घंटे के अंदर मांगी है।

भाजपा ने साधा कांग्रेस पर निशाना।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर इस मामले में राजनीति करने का आरोप लगाते हुए उसे राजस्थान में दुष्कर्मों के मामलों के आंकड़ों से परिचित कराया। संबित पात्रा ने कहा, दिल्ली में नौ साल की बच्ची का सामूहिक दुष्कर्म और फिर हत्या के मामले में राजनीति गरमा गई है।

 

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस व राहुल गांधी से कहा है कि रेप पर राजनीति करना अच्छा नहीं है। कांग्रेस को दिल्ली में दलित की बच्ची से दुष्कर्म दिखाई देता है लेकिन राजस्थान के रेप पर वह चुप क्यों हो जाते हैं। पात्रा ने आगे कहा कि, दिल्ली के नांगल में नन्ही सी बच्ची के साथ रेप हुआ, ये बहुत दुखद है, हम इसकी घोर निंदा करते हैं। इसमें चार से अधिक लोग गिरफ्तार हुए हैं। कानून इस पर अपना काम कर रहा है। लेकिन रेप के मामलों में अगर राजनीति की जाए, तो ये राजनीति का सबसे निम्न स्तर होता है।

श्मशान भूमि में लगे वाटर कूलर से पानी लेने गई थी बच्ची।

बच्ची की मां ने बताया कि शाम करीब साढ़े पांच बजे बच्ची श्मशान भूमि में लगे वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने गई थी। करीब साढ़े छह बजे श्मशान भूमि का पुजारी राधेश्याम ने उसे बुलाया। पुजारी और उसके कर्मचारियों ने बताया कि बच्ची की करंट लगने से मौत हुई है। बच्ची के होंठ नीले पड़े थे और हाथ में जलने के निशान थे।

ज़बरदस्ती किया अंतिम संस्कार – परिवार।

बच्ची को देखने के बाद उसकी मां ने पुलिस को फोन करने की कोशिश की, लेकिन पुजारी ने पोस्टमार्टम में अंगों की चोरी होने की बात कहकर परिजनों को डराया और बच्ची का अंतिम संस्कार करवा दिया। परिजनों के घर पहुंचने पर यह बात इलाके में फैल गई और लोग बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या का आरोप लगाने लगे।

क्या कहना है पुलिस का ?

पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर मामले को शांत करवाया।  पुलिस ने मौके पर फोरेंसिक टीम को बुलाकर साक्ष्य एकत्रित करवाया और बच्ची की मां के बयान पर मामला दर्ज कर लिया। पुलिस पुजारी सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ कर रही है।

लेकिन ……………बच्ची की मौत का कारण नहीं पता लगे डॉक्टर।

डीसीपी प्रतास सिंह ने बताया, बच्ची को जलाने की कोशिश के बाद, जो हिस्से बचे रह गये उसका पोस्टमार्टम किया गया। इसमें कई डॉक्टर शामिल थे। डॉक्टरों की पूरी टीम मौत के कारणों का पता नहीं लगा सकी। हम उसके शरीर को उसके परिजनों को सौंप रहे हैं।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram