Hindi Newsportal

राहुल गांधी का केंद्र पर हमला, कहा -पीएम मोदी की नौटंकी से आई कोरोना की दूसरी लहर, असली मौतों के आकड़े भी झूठ

File Image
0 368

देश में कोरोना संकट के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने आज केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने आज पत्रकारों से वार्ता से दौरान देश में कोरोना संकट, कोरोना से बचाव, इससे बचने वाली रणनीति, वैक्सीन संकट और वैक्सीन स्ट्रेटेजी पर न केवल आरोप लगाए बल्कि सरकार के कई निर्णय पर भी सवाल उठाये।

पत्रकारों से इस वार्ता में राहुल गाँधी ने कोरोना की दूसरी लहर के लिए प्रधानमंत्री को ज़िम्मेदार ठहराया और कहा कि उन्होंने अपनी ज़िमेदारी पूरी नहीं की है। उन्होंने आरोप लगाया, ”दूसरी लहर प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है। प्रधानमंत्री ने जो नौटंकी की, अपनी जिम्मेदारी पूरी नहीं की, उसका कारण दूसरी लहर है। इसके बाद उन्होंने आगाह भी किया कि अगर मौजूदा गति से टीकाकरण हुआ तो और भी लहर आएगी क्योंकि वायरस का स्वरूप बदलता जाएगा।

इतना ही नहीं इसके साथ – साथ उन्होंने देश में कोरोना से होने वाली मौतों के आकड़े पर भी केंद्र को घेरा। इस मुद्दे पर उन्होंने बोलते हुए कहा कि वायरस कि वजह से जान गवाने वालों की संख्या उससे कई अधिक है जितनी रिपोर्ट की गयी है लेकिन जब पत्रकारों द्वारा ये पूछा गया कि मौतों के मामले में कांग्रेस शासित राज्य भी शामिल है तब उन्होंने कहा – “मैंने कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की, उनसे कहा कि झूठ से उन्हें ही नुकसान होगा, हकीकत को स्वीकार करने की जरूरत है। वास्तविक मौत की संख्या परेशान करने वाली हो सकती है लेकिन हमें सच बोलने पर टिके रहना चाहिए।”

सरकार समझ ही नहीं कोरोना क्या है?

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार और प्रधानमंत्री को आज तक कोरोना समझ ही नहीं आया है। कोरोना सिर्फ एक बीमारी नहीं है, कोरोना एक बदलती हुई बीमारी है। आप इसको जितना समय और जगह देंगे ये उतना खतरनाक बनता जाएगा।

ये भी पढ़े : DRDO की कोरोना दवा 2DG की कीमत तय; 990 रुपए में मिलेगा एक पाउच, सरकारी अस्‍पतालों को मिलेगी छूट

सरकार झूठ फैला रही है, विपक्ष दुश्मन नहीं।

कांग्रेस नेता ने देश में वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार पर भी चिंता जताई। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि अगर इस रेट पर वैक्सीनेशन चलता गया तो तीसरी, चौथी और पांचवी वेव आएगी। हमारी मृत्यु दर झूठ है और सरकार इस झूठ को फैला रही है। सरकार को समझना चाहिए कि विपक्ष उनका दुश्मन नहीं है, विपक्ष उनको रास्ता दिखा रहा है।

वैक्सीन के बिना नहीं रुकेगा संक्रमण – राहुल गाँधी।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘कोरोना को रोकने के तीन-चार तरीके हैं. इनमें से एक तरीका टीकाकरण है। लॉकडाउन एक हथियार है, लेकिन यह अस्थायी समाधान है। सामाजिक दूरी और मास्क भी अस्थायी समाधान है। टीका स्थायी समाधान है। अगर आप तेजी से टीका नहीं लगाते हैं तो वायरस बढ़ता जाएगा। ’’

भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी को भी लिया आड़े हाथ, कहा – ‘भारत में सिर्फ 3 फीसदी लोगों को लगी दोनों डोज’।

उन्होंने आगे कहा , ‘‘कुछ ही समय पहले मैंने देखा कि विदेश मंत्री ने कहा कि हम ‘टीका कूटनीति’ कर रहे हैं और देश का नाम रोशन कर रहे हैं। आज स्थिति क्या है? देश के सिर्फ तीन फीसदी लोगों को टीका लगाया गया यानी 97 फीसदी लोगों को कोरोना पकड़ सकता है। इस सरकार ने कोरोना के लिए दरवाजा खुला छोड़ रखा है।’’ राहुल गांधी ने कहा, ‘‘अमेरिका ने अपनी आधी आबादी को टीका लगा दिया। ब्राजील जैसे देश ने आठ-नौ फीसदी लोगों को टीका लगा दिया। हम टीका बनाते हैं, लेकिन हमारे यहां सिर्फ तीन फीसदी लोगों को टीका लगा है।’’

इधर इन सब के बीच राहुल गाँधी द्वारा नौटंकी वाली टिप्पणी पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेड़कर का भी जवाब आया है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram