Hindi Newsportal

यूपी : बलरामपुर के पत्रकार को सैनिटाइजर डालकर जलाया गया था जिंदा, तीन आरोपी हुए गिरफ्तार

0 296

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में तीन दिन पहले हुई पत्रकार राकेश सिंह और उनके साथी की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया। दरअसल दोनों को अल्कोहल से बने सैनिटाइजर से जलाया गया था। पुलिस ने इस केस के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार प्रधान निधि में हो रहे बंदरबांट की खबर लिखने और पैसों के लेनदेन के विवाद में दोनों को मौत के घात उतारा गया था। फिलहाल सभी आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

लोगों को था शक – मकान में लगी आग।

दरअसल तीन दिन पहले कलवारी गांव में पत्रकार राकेश सिंह निर्भीक के बेडरूम से अचानक धुआं उठता देखा गया। लोगों ने उनके मकान में आग लगने की सूचना दी। घर में उठी इसी आग में ज़िंदा जलकर पत्रकार और उसके साथी की मौत हो गयी थी लेकिन आगे जांच में खुलासा हुआ की आग लगी नहीं लगाईं गयी थी।

साथ बैठ कर शराब पी, फिर दिया घटना को अंजाम।

इस मामले का जल्द खुलासा तब हुआ जब मृतक पत्रकार की पत्नी ने जल्द खुलासा न होने पर आत्मदाह की चेतावनी दी थी। पुलिस ने मामले में सक्रियता दिखाते हुए पूरे मामले का खुलासा कर दिया। पुलिस के मुताबिक पत्रकार राकेश सिंह ग्रामसभा कलवारी में सरकारी रुपए के दुरुपयोग की खबर लिख रहे थे। इससे कलवारी की महिला प्रधान सुशीला देवी व उनके लड़के रिंकू से रंजिश बढ़ रही थी।

ये भी पढ़े : देखे: जेएनयू की पूर्व छात्र नेता शेहला रशीद के पिता का आरोप- बेटी एंटी नेशनल, मेरी जान को खतरा, अब शेहला रशीद ने भी पिता पर लगाए आरोप

घटना की रात रिंकू मिश्रा अपने कुछ साथियों के साथ पत्रकार राकेश सिंह के घर गया था। जहां राकेश और पिंटू दोनों मौजूद थे। वहां ग्रामसभा के खिलाफ खबरें न लिखने पर दोनों के बीच बात हुई। फिर सभी ने शराब पी और जब राकेश व उसका साथी नशे में हो गए तो रिंकू अपने साथियों के साथ वहां से निकल गया।

अंदर आग लगा कर बहार से लगा दिया ताला।

योजना के मुताबिक ललित मिश्रा व उसके साथी अकरम फौरन बाद वहां आ गए और नशे की हालत में ही केमिकल युक्त सैनिटाइजर दोनों के ऊपर डाल अकरम और ललित ने आग लगा दी। साथ ही भागते वक्त कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर ताला लगा दिया। जिससे कमरे से दोनों भाग न सकें। आग लगने के बाद कमरे में ही पिंटू की झुलसकर मौत हो गयी। जबकि पत्रकार राकेश सिंह बुरी तरह झुलस गए। बाद में उनकी भी लखनऊ में इलाज के दौरान मौत हो गई।

आरोपियों ने कुबूल किया जुर्म।

इस पूरे मामले में एसपी ने बताया कि तीनों हत्यारोपियों को मुखबिर की सूचना और सर्विलास के जरिए गिरफ्तार किया गया है। तीनों ने पत्रकार राकेश सिंह और उनके मित्र पिंटू साहू की जला कर हत्या करने की बात स्वीकार कर ली।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram