Hindi Newsportal

बैंकों में आज और कल हड़ताल: 10 लाख कर्मचारी काम रखेंगे ठप, जानें- कौन सी सेवाएं होंगी प्रभावित

File Image
0 244

दो बैंकों के निजीकरण के प्रस्ताव के खिलाफ सोमवार और मंगलवार यानी आज और कल देशभर में बैंककर्मी हड़ताल पर है। ये हड़ताल दो सार्वजनिक बैंकों के निजीकरण के विरोध सहित कई अन्य मांगों को लेकर भी है। बता दे इस हड़ताल में ग्रामीण बैंक भी शामिल होंगे।

10 लाख बैंककर्मियों के हड़ताल में होने का दावा।

दरअसल यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) बैनर के तले नौ यूनियन ने इस हड़ताल का आह्वान किया है। ऑल इंडिया बैंक इम्प्लॉइज एसोसिएशन (एआईबीईए) के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने इस हड़ताल में 10 लाख बैंककर्मियों के हड़ताल में शामिल होने का दावा किया है।

4 दिन ठप रहेंगी बैंक सेवा।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के 10 लाख कर्मचारी केंद्र सरकार की नीतियों के ख‍िलाफ पिछले महीने से ही लगातार अपना विरोध दर्ज करा रहे है और अब 15 एवं 16 मार्च को दो दिन की हड़ताल का ऐलान किया गया है। गौरतलब है कि शनिवार और रविवार को भी बैंक बंद थे, इस तरह सरकारी बैंकों का कामकाज लगातार चार दिन तक ठप रहेगा।

क्यों की जा रही है हड़ताल।

दरअसल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में IDBI Bank बैंक के अलावा दो और सरकारी बैंकों के निजीकरण यानी प्राइवेटाइजेशन का ऐलान किया था। अब वित्त मंत्री के इस फैसले का बैंक कर्मचारी यूनियनों की ओर से लगातार विरोध किया जा रहा है जो अब हड़ताल का रूप ले चूका है।

चार साल में सार्वजनिक क्षेत्र के 14 बैंकों का हुआ विलय ।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने अगले वित्त वर्ष (2021-22) के दौरान विनिवेश के जरिये 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। बैंकों के निजीकरण के अलावा सरकार ने एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी को भी अगले वित्त वर्ष में निजीकरण करने का फैसला लिया है। वही सरकार इससे पहले आईडीबीआई बैंक में अपनी ज्यादातर हिस्सेदारी भारतीय जीवन बीमा निगम को बेच चुकी है। इतना ही नहीं पिछले चार साल में सार्वजनिक क्षेत्र के 14 बैंकों का विलय किया जा चुका है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक : क्या केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने की AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी से मुलाकात ? जानें सच

कौन – कौन है हड़ताल में शामिल।

हड़ताल में यूनाइटेड फ्रंट और बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) में ऑल इंडिया बैंक इम्प्लॉइज एसोसिएशन (एआईबीईए), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कंफेडरेशन (एआईबीओसी) नेशनल कंफेडरेशन आफ बैंक इम्प्लॉइज (एनसीबीई), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (एआईबीओए) और बैंक इम्प्लॉइज कंफेडरेशन आफ इंडिया (बीईएफआई) शामिल हैं।

बैंकों ने ग्राहकों को चेताया – हो सकती है कामकाज में परेशानी।

इधर इस हड़ताल के पहले ही कुछ बैंकों ने पहले ही बता दिया है कि उनके यहां हड़ताल की वजह से कामकाज बाधित होंगे, यानी ग्राहकों को परेशानी होने वाली है। हालाकिं भारतीय स्टेट बैंक सहित कई बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस हड़ताल के बारे में सचेत भी कर दिया था और बैंक मैनेजमेंट का कहना है क‍ि वे इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि कामकाज को चलाया जा सके।

निजी बैंकों पर नहीं पड़गे असर।

इस हड़ताल के दौरान निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक, ICICI बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक और इंडसइंड बैंक जैसे अन्य निजी बैंकों के कामकाज पर कोई असर नहीं होगा।

हड़ताल के दौरान काम करेंगे एटीएम।

बैंकों के एटीएम हड़ताल के दौरान संचालित रहेंगे।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram