Hindi Newsportal

बीजेपी में शाम‍िल हुए ‘रामायण’ के ‘श्री राम’ अरुण गोविल, धारावाहिक के ये सब किरदार भी थाम चुके है भाजपा का हाथ

File Image
0 281

रामानंद सागर की ‘रामायण’ में भगवान राम का किरदार निभाकर घर-घर मशहूर हुए अरुण गोविल बीजेपी (BJP) में शामिल हो गए हैं। उन्होंने गुरुवार को पार्टी के कार्यालय में सदस्यता ग्रहण की। पिछले कुछ वक्त से चर्चा थी कि अरुण गोविल बीजेपी में शामिल हो सकते हैं, ज‍िस पर अब मुहर लग चुकी है। अरुण गोविल की बीजेपी में एंट्री ऐसे समय हुई है, जब देश के 5 राज्यों में चुनाव होने वाले है और सब राज्यों में लगभग काटे की टक्कर राजनैतिक पार्टियों के बीच है।

भाजपा का दामन थामते ही बांधे PM मोदी के तारीफों के पुल।

अरुण गोविल ने आज दिल्‍ली में बीजेपी कार्यालय में पार्टी की सदस्‍यता लेने के बाद कहा, ‘इस समय जो हमारा कर्तव्‍य है वो करना चाहिए। मुझे राजनीति आज से पहले समझ नहीं आती थी। लेकिन मोदी जी ने जब से देश को संभाला है तब से देश की परिभाषा ही बदल गई है। मेरे दिल दिमाग में जो होता है कर देता हूं।’

ममता बनर्जी को भी लिया आड़े हाथ।

अरुण गोविल ने आगे कहा कि अब मैं देश के लिए योगदान देना चाहता हूं। इस‍के लिए हमें एक मंच की जरूरत होती है। बीजेपी आज इसके लिए सबसे अच्‍छा मंच है। दिलचस्‍प है कि बीजेपी में शामिल होते ही आम तौर पर शांत दिखने वाले अरुण गोविल ने आक्रामक अंदाज भी अपना लिया। उन्‍होंने ममता बनर्जी पर सीधा वार करते हुए कहा, ‘मैंने पहली बार देखा कि ममता बनर्जी को ‘जय श्री राम’ के नारे से एलर्जी हुई। जय श्री राम केवल एक नारा नहीं है।’

प.बंगाल में करेंगे प्रचार।

बता दे जल्द ही पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और ऐसे में अरुण गोविल के बीजेपी में शामिल होने को बड़ा दाव माना जा रहा है। इसी क्रम में बीजेपी में शामिल होने के बाद अरुण गोविल अब पश्चिम बंगाल में पार्टी के लिए प्रचार भी करेंगे।

ये भी पढ़े : गडकरी का संसद में बड़ा ऐलान- एक साल में हटाएंगे सभी टोल प्लाजा, अब हाइवे पर लगेंगे GPS ट्रैकर

कांग्रेस की टिकट ठुकरा चुके है अरुण।

अरुण गोविल को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़वाना चाहते थे, लेकिन तब अरुण गोविल ने ऑफर ठुकरा दिया था।

लड़ सकते है चुनाव भी।

अब कहा जा रहा है कि बीजेपी की सदस्यता लेने के बाद अरुण गोविल चुनाव भी लड़ सकते हैं। ऐसा होता है तो अरविंद त्रिवेदी और दीपिका चिखलिया के बाद बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले वह तीसरे कलाकार होंगे।

‘रामायण’ के ‘रावण’ और ‘सीता’ भी पार लगा चुके है BJP की नैय्या।

गौरतलब है कि बीजेपी के टिकट पर ही ‘रामायण’ में रावण का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी ने साल 1991 में चुनाव लड़ा था। उस वक्त उन्होंने गुजरात के साबरकांठा सीट से चुनाव जीता था। ‘रामायण’ की ‘सीता’ यानी दीपिका चिखलिया ने भी बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा। उन्होंने 1991 में गुजरात की बड़ोदा सीट पर चुनाव लड़ा था और जीता भी।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram