Hindi Newsportal

बड़ी राहत: रेमडेसिविर इंजेक्शन और कच्चे माल पर कस्टम ड्यूटी खत्म,मरीजों को सस्ते दाम पर होगा उपलब्ध

0 285

देश में कोरोना महामारी के चलते रेमडेसिविर इंजेक्शन की भारी मांग उठ रही है और ये मांग इतनी ज़्यादा है कि देश में अब उसकी किल्लत होने लगी है। अब इसकी ही कमी से जूझ रहे लोगों के लिए राहत की खबर आई है। दरअसल केंद्र सरकार ने मंगलवार को इस इंजेक्शन व इसके कच्चे माल के आयात पर कस्टम्स ड्यूटी खत्म कर दी। अब इससे ये सस्ते हो सकते हैं।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने घोषणा की है कि कोविड-19 के इलाज में कारगर मानी जा रहे रेमडेसिविर इंजेक्‍शन को बनाने में इस्‍तेमाल होने वाले कच्‍चे माल (Remdesivir API) के आयात पर कोई शुल्‍क नहीं वसूला जाएगा। यही नहीं, रेमडेसिविर इंजेक्‍शन के आयात को भी ड्यूटी फ्री यानी (Import Duty Free) कर दिया गया है। बता दे केंद्र सरकार की इस घोषणा से आने वाले दिनों में देश में ये दवा पर्याप्‍त मात्रा में उपलब्‍ध होने की उम्‍मीद की जा सकती है।

कब तक रहेगी ये छूट लागू ?

राजस्व विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया कि केंद्र सरकार ने जिन वस्तुओं पर शुल्क माफ किया गया है, उनमें रेमेडिसविर के निर्माण में उपयोग किए जाने वाले सक्रिय फार्मास्युटिकल सामग्री (एपीआई), रेमेडिसविर इंजेक्शन और बीटा साइक्लोडोडेक्स्ट्रिन शामिल हैं। आयात शुल्क में यह छूट 31 अक्टूबर तक लागू रहेगी।

ये भी पढ़े: कोरोना के चलते प्रतिबंधों के बीच यूके जाने वाली और यूके से भारत आने वाली एयर इंडिया की उड़ानें 30 अप्रैल तक रद्द

इस बीच केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि अगले 15 दिनों में एंटी वायरल दवा रेमडेसिवर का उत्पादन दोगुना कर दिया जाएगा। बता दें कि एंटी वायरल दवा रेमडेसिवर को लेकर कई राज्यों से कमी की खबर आ रही है। केंद्रीय मंत्री मांडविया ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो संदेश में कहा था कि भारत सरकार देश में रेमेडिसविर इंजेक्शन के उत्पादन को बढ़ाने और कम कीमत पर उपलब्ध कराने के सभी प्रयास कर रही है।

अभी कितना हो रहा है देश में उत्पाद।

वर्तमान में, कथित तौर पर रेमेडिसवीर की प्रतिदिन 150,000 शीशियों का उत्पादन प्रति दिन किया जा रहा है और, अगले 15 दिनों में, उत्पादन को दोगुना करके 300,000 शीशियां प्रत्येक दिन किये जाने का संकल्प है।

सरकार के हस्तक्षेप के बाद हाल ही में कम हुए है दाम।

बता दे राष्ट्रीय औषधि मूल्य प्राधिकरण (एनपीपीए) ने पिछले सप्ताह कहा था कि सरकार के हस्तक्षेप के बाद विभिन्न दवा कंपनियों ने रेमडेसिविर के दाम घटाए हैं।

  • कैडिला हेल्थकेयर ने रेमडैक (रेमडेसिविर 100 एमजी) इंजेक्शन का दाम 2,800 से रुपये से घटाकर 899 रुपये कर दिया है।
  • इसी तरह सिंजीन इंटरनेशनल ने अपने ब्रांड रेमविन का दाम 3,950 रुपये से घटाकर 2,450 रुपये कर दिया है।
  • हैदराबाद की डॉ रेड्डीज लैब ने रेडवाईएक्स का दाम 5,400 से घटाकर 2,700 रुपये कर दिया है।
  • इसी तरह सिप्ला ने अपने सिपरेमी ब्रांड का दाम 4,000 रुपये से घटाकर 3,000 रुपये कर दिया है।
  • मेलान ने अपने ब्रांड का दाम 4,800 से घटाकर 3,400 रुपये कर दिया है।
  • जुबिलेंट जेनेरिक्स ने अपने रेमडेसिविर का ब्रांड का दाम 4,700 से घटाकर 3,400 रुपये किया है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram