Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: 30 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन के इस फर्जी वायरल पोस्ट का जानें सच 

0 378

भारत में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच इन दिनों देश के लगभग सभी राज्यों ने नाईट कर्फ्यू, वीकेंडलॉक डाउन, शहर में धरा 144 या नए दिशानिर्देश जारी कर दिए है। ऐसे में लॉकडाउन को लेकर कई ख़बरें वायरल हो रही है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक पोस्ट व्यापक रूप से साझा किया जा रहा है कि देश में 15 से 30 अप्रैल तक देश में टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है।

इसी क्रम में सोशल मीडिया पर एक यूजर ने TV9 चैनल का एक स्क्रीनशॉट साझा किया। इस स्‍क्रीनशॉट को पोस्‍ट करते हुए दावा किया गया कि 15 से 30 अप्रैल तक देश में टोटल लॉकडाउन का ऐलान हो चूका है। अब देश में सब बंद रहेगा।

आगे हमे सोशल मीडिया पर इसी दावों के साथ एक दूसरा पोस्ट मिला। लेकिन उसमे TV9 का लोगो नहीं था। दरअसल ये पोस्ट बिना किसी चैनल के लोगों (चिन्ह) के साथ ही साझा किया गया था। इस पोस्ट में भी लॉकडाउन का दावा करते हुए लिखा गया – देश में 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सख़्त लॉकडाउन का ऐलान, सभी राज्यों में स्कूल कॉलेज तुरंत बंद। परीक्षाएं हुई रद्द। बड़ी ख़बर, पूरी अपडेट देखिए।

इसी तरह के और पोस्ट आप यहाँ, यहाँ, यहाँ और यहाँ देख सकते है।

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल ने इस पोस्ट की जांच की और इसे फेक पाया।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक: क्या कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए हरियाणा में घोषित हुए वीकेंड लॉकडाउन? जानें सच

सबसे पहले हमने भारत में सम्पूर्ण लॉकडाउन (complete lockdown) की ख़बरों के बारे में खोज लेकिन हमे ऐसी कोई ख़बरें नहीं मिली।

आगे हमने वायरल हो रहे टीवी 9 भारतवर्ष के स्‍क्रीनशॉट के ऊपर लिखे वाक्‍य ‘वायरस से कौन बचाए…अब लॉकडाउन ही उपाय?’ के बारे में खोज की। जांच में हमें यूट्यूब पर एक वीडियो मिला जिसमे इस वाक्‍य का इस्तेमाल 12 अप्रैल 2021 की एक खबर में हुआ था। न्‍यूज के शुरुआती कुछ सेकंड में इसी वाक्‍य का इस्‍तेमाल किया गया था। इसे आप यहां देख सकते हैं।

आगे जब हमने इस पोस्ट की और जांच की तो हमने इस वायरल पोस्ट में  रियल एजुकेशन का एक ‘लोगो’ या स्टाम्प नज़र आया। हमने जब खोज की तो हमे इसी नाम का एक यूट्यूब चैनल मिला। जांच में पता चला कि न्‍यूज चैनल के मॉर्फ्ड स्‍क्रीनशॉट का इस्‍तेमाल इस चैनल पर 13 अप्रैल 2021 को इस्‍तेमाल किया गया था। चौंकाने वाली बात ये थी कि इस चैनल पर एक नहीं बल्कि हमे कई फेक वीडियोस मिले।

यहाँ तक कि 20 अप्रैल को पीएम के सम्बोधन के ठीक बाद ही इसी चैनल पर लॉकडाउन को लेकर फिरसे एक फेक खबर शेयर की जा रही थी जिसमे 26 अप्रैल तक लॉकडाउन का दावा किया जा रहा था।

इसके अलावा हमे कई मीडिया रिपोर्ट्स मिली जिसमें उन सभी राज्यों की सूची थी जिन्होंने या तो कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए वीकेंड लॉकडाउन लगाया है या नाईट कर्फ्यू। ऐसी ही कुछ मीडिया रिपोर्ट्स आप यहाँ और यहाँ देख सकते है।

इसके अलावा हमे ऐसी भी रिपोर्ट्स मिली जिसमें इस बात का साफ़ ज़िक्र था की 20 अप्रैल को पीएम के देश के नाम सम्बोधन में उन्होंने राज्यों से अपील की थी की वो लॉकडाउन को आखिरी विकल्प रखे।

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान पीएम के सम्बोधन को भी आप सुन सकते है।

इतनी जानकारी से हम दावा कर सकते है कि सोशल मीडिया पर लॉकडाउन को लेकर वायरल हो रहा पोस्ट फेक है।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें