Hindi Newsportal

फैक्ट चेक : सोशल मीडिया पर वायरल नरेंद्र मोदी चौक की इस तस्वीर का जानें सच

0 238

सोशल मीडिया पर नरेंद्र मोदी की मार्बल की एक बड़ी स्टैच्यू यानी मूर्ति की तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर में इस बड़ी सी मूर्ति के पीछे, एक केतली से पानी गिरता हुआ भी देखा जा सकता है। साथ ही इसमें एक बोर्ड है और लिखा है – नरेंद्र मोदी चौक।

फेसबुक में इसे इस कैप्शन के साथ साझा किया जा रहा है – “निंदनीय ये हो क्या रहा है,जीते जी किसी के नाम के चौक-चौराहे,स्टेडियम-अस्पताल की परंपरा हमारे देश में नही है !!!”

अंग्रेजी में ट्रांसलेशन – (Translation- It is condemnable, there is no tradition of naming intersections, stadium-hospital in the name of someone alive in our country.)

इस पोस्ट का लिंक आप यहाँ देख सकते है।

ऐसे ही पोस्ट आप यहाँ, यहाँ और यहाँ भी देख सकते है।

फैक्ट चेक :

न्यूज़ मोबाइल ने इस पोस्ट की जांच की और पाया की ये पोस्ट फेक है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक : लेफ्ट की पुरानी रैली की तस्वीर हाल ही की कांग्रेस-लेफ्ट की कोलकाता रैली के रूप में की जा रही साझा, जानें सच

इन चित्रों को रिवर्स इमेज सर्च के माध्यम से डालने पर, हमें YouTube पर एक वीडियो मिला जिसमें केतली का पानी डालते हुए एक समान अधिष्ठापन (Installation)दिखाया गया था, लेकिन पीएम मोदी की प्रतिमा के बजाय एक कप था। वीडियो का शीर्षक लिखा था, “स्टेशन चौक फैसलाबाद”।

इस जानकारी के साथ, हमने कुछ कीवर्ड के लिए और एक और रिवर्स इमेज सर्च किया जिससे हमें उर्दू प्वाइंट वेबसाइट पर मूल छवि यानी ओरिजिनल छवि मिली जो पाकिस्तान के फैसलाबाद में स्टेशन चौक की थी।

दोनों चित्रों की तुलना करने पर, यह स्पष्ट हो जाता है कि पाकिस्तान में स्टेशन चौक पर एक इंस्टॉलेशन की तस्वीर को संपादित किया गया है और फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग करके पीएम मोदी की प्रतिमा को जोड़ा गया है।

हमे गूगल मैप पर भी इस चौक की तस्वीर मिली जो दुसरे एंगल से खींची गयी थी।

इतनी जानकारी से ये स्पष्ट है की सोशल मीडिया पर वायरल छवि को एडिट किया गया है और नरेंद्र मोदी चौक की ये तस्वीर फेक है।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें