Hindi Newsportal

फैक्ट चेक : बाल विवाह की इस वायरल तस्वीर का जानें सच

0 405

सोशल मीडिया पर एक अधेड़ उम्र के आदमी के बगल में बैठी एक नाबालिग लड़की की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल कि जा रही है कि तस्वीर में दिख रही लड़की का नाम अनीता है जिसकी उम्र 10 साल है और ये अनाथ है जिसकी शादी शिवनाथ चतुर्वेदी नाम के 40 वर्षीय व्यक्ति से हो रही है।

इस तस्वीर का यह भी दावा है कि अनीता के पिता अशोक चतुर्वेदी का निधन हो गया था और अनीता की शादी उनके चाचा शिवनाथ चतुर्वेदी से हो रही थी।

ऊपर दिख रहे पोस्ट कि लिंक आप यहां देख सकते है।

इसी प्रकार के अन्य पोस्ट आप यहाँ, यहाँ, और यहाँ देख सकते है।

फैक्ट चेक :

तस्वीर को Google Reverse Image Search के माध्यम से डालने पर, हमने ये तस्वीर हमे ट्विटर उपयोगकर्ता, शाह बेगम के अकाउंट पर मिली जो “महिलाओं की आवाज़ पाकिस्तान” की संस्थापक भी है। उन्होंने बाल विवाह को पूरे समाज के मुंह पर एक तमाचा बताया जिससे हमे संकेत मिला कि ये तस्वीर पकिस्तान की है।

इसके अलावा, हमें यह तस्वीर 20 अगस्त, 2020 को Baaghi TV के एक लेख में मिली, जिसमें दावा किया गया कि यह तस्वीर लियाकतपुर, पाकिस्तान की है।

हमें UNewsTV.com पर एक वीडियो भी मिला, जिसे 18 अगस्त, 2020 को अपलोड किया गया था, जिसमें दावा किया गया था कि पुलिस ने पाकिस्तान के अहमदपुर शरकिया में 10 साल की लड़की से शादी करने के लिए 40 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक : भारत में पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के इस चेतावनी संकेत का जानें सच

रिपोर्ट में दावा किया गया कि नाबालिग लड़की ने बहुत समय पहले अपने पिता को खो दिया था और उसकी मां ने उसे 40 वर्षीय व्यक्ति तारिक महमूद को बेच दिया था, जिसे हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस ने कहा कि आगे की जांच उन मेहमानों पर की जाएगी, जो अहमदपुर शारजिया के रामकली इलाके में हुए समारोह का हिस्सा थे।

हमें उसी वीडियो में आदमी का पहचान प्रमाण भी मिला। वायरल पोस्ट में आदमी की तस्वीर और आईडी प्रूफ पर तस्वीर की तुलना करने के बाद, हमने पाया कि वे दोनों एक ही हैं। हमने यह भी पाया कि यह पहचान पत्र पाकिस्तान का है।

इसके अलावा, फेसबुक वायरल पोस्ट में दावा किया गया है कि 40 वर्षीय व्यक्ति का नाम शिवनाथ चतुर्वेदी है लेकिन जब हमने पहचान पत्र को ध्यान से देखा तो पाया कि उसका नाम तारिक महमूद है।

इसलिए, उपरोक्त जानकारी की मदद से, यह साबित हो गया है कि तस्वीर के बारे में सोशल मीडिया पर विभिन्न दावे झूठे और भ्रामक हैं।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 88268 00707 पर व्हाट्सएप करें।