Hindi Newsportal

फैक्ट चेक : तमिलनाडु में चुनाव से ठीक पहले शराब की बोतल की ये तस्वीर गलत दावों के साथ की जा रही साझा, जानें सच

0 524

भारत में चुनाव आयोग द्वारा तारीखों के एलान के बाद पश्चिम बंगाल, केरल, तमिलनाडु, असम और पुडुचेरी में चुनाव होने वाले है। भारतीय निर्वाचन आयोग यानी (Election Commission Of India) के अनुसार, तमिलनाडु में एक चरण में 6 अप्रैल को 234 सीटों पर चुनाव होंगे, वहीं नतीजे 2 मई को घोषित किये जाएंगे। इसी क्रम में एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि शराब की बोतल के पैकेज वाली ये तस्वीर डीएमके के उम्मीदवार कादरबाशा मुथुरमलिंगम के घर से मिली है।

फेसबुक में एक यूज़र ने इस पोस्ट को साझा करते हुए लिखा है – तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले से द्रमुक पार्टी के कद्रभाशा मुथुरामलिंगा देवर को चुनाव आयोग के अधिकारीयों द्वारा पकड़ा गया है, जो अपने जिले के पुरुष मतदाताओं को चुनाव से ठीक पहले लगभग 30 लाख मूल्य की शराब, पानी की बोतल और स्नैक्स बाँट रहे थे। रामनाथपुरम के लोग अभी भी डीएमके और शराब के गुलाम हैं .. आप अपना वोट डालने से पहले सोचिए कि आप अपना वोट उस व्यक्ति को दे जो परिवर्तन लाता है।

इस पोस्ट का लिंक आप यहाँ देख सकते है।

इस तरह के पोस्ट आप यहाँ, यहाँ, यहाँ और यहाँ देख सकते है।

फैक्ट चेक :

न्यूज़मोबाइल ने उपरोक्त पोस्ट की जाँच की और पाया कि यह गलत और भ्रामक है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक : क्या भारत में 31 मार्च 2021 तक सभी ट्रेनें हो गई है रद्द ? जानें सच

बता दे कि तमिलनाडु के कादरबाशा मुथुरमलिंगम वहां रामनाथपुरम निर्वाचन क्षेत्र के द्रमुक यानी DMK के उम्मीदवार है।

रामनाथपुरम निर्वाचन क्षेत्र के बारे में जब हमने खोजा तो हमे “The Hindu” की ये रिपोर्ट मिली।

इस पोस्ट का लिंक आप यहाँ देख सकते है।

इस वायरल चित्र को गूगल रिवर्स इमेज सर्च के माध्यम से डालने पर, हमें 24 सितंबर, 2019 को थाई समाचार लेख – “Tdaily” में यही चित्र मिला, जिसमें दावा किया गया था कि जॉनी नाम के एक बाढ़ बचावकर्ता ने लोगों की जान बचाने के लिए इस पैकेज को तैयार किया था।

हमें सॉसर सक के एक अन्य लेख में पैकेज की यही तस्वीर मिली जिसमें दावा किया गया कि हेलन जॉनी नाम के युवक ने बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए ये पैकेज बनाये थे।

इसके अलावा, हमें 2019 से थाई भाषा के विभिन्न ब्लॉग पेजों पर शराब की बोतलों की वही तस्वीर मिली, जिसमें दावा किया गया था कि जॉनी नाम का युवक बाढ़ से जीवित बचे लोगों के लिए ये बैग तैयार करता है। ब्लॉग को यहाँ, यहाँ और यहाँ आप देख सकते है।

आगे की पुष्टि के लिए, हमने फेसबुक पर बाढ़ बचावकर्ता जॉनी की भी खोज की। उनके फेसबुक प्रोफाइल पर, हमें 22 सितंबर, 2019 को शराब की बोतलों से भरी यही तस्वीर मिली। चित्र में भी थाईलैंड को ही टैग किया गया था।

फ्लडलिस्ट की एक खबर के मुताबिक, हमे पता चला कि 2019 में थाईलैंड वाकई में बाढ़ से ग्रसित था और कई लोगों कि ज़िन्दगी इससे प्रभावित हुई थी।

इसके साथ ही न्यूज़मोबाइल ने बिहार विधान सभा चुनाव के दौरान इसी पोस्ट का फैक्ट चेक भी किया था। उस समय बिहार चुनाव के दौरान यही फोटो इस दावे के साथ वायरल किया जा रहा था कि आगामी बिहार चुनावों से पहले बीजेपी-जेडी (यू) गठबंधन इन बोतलों को राज्य में वितरित करा रहे है। बता दे बिहार ड्राई स्टेट है जहाँ शराब की बिक्री पर सख्त पाबंधी है।

न्यूज़मोबाइल द्वारा अक्टूबर 2020 को इसी पोस्ट के फैक्ट चेक को आप यहाँ देख सकते है।

इतनी जानकारी से हम दावा कर सकते है कि ये पोस्ट तमिलनाडु के रामनाथपुरम का नहीं बल्कि थाईलैंड का है, यानि पोस्ट के साथ किया गया दावा गलत हैं।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें