Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: जानें प्लेटफ़ॉर्म टिकट पर लिखे ‘अडानी रेलवे’ का क्या है सच

0 432

पुणे जंक्शन के एक प्लेटफॉर्म टिकट की तस्वीर जिस पर ’अदानी’ लिखा है, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं का दावा है कि भारतीय रेलवे अब उद्योगपति अदानी की निजी संपत्ति है।

एक फेसबुक पोस्ट में लिखा गया है कि, “लो जी, रेलवे आपकी नहीं, #अडानी की #निजी_सम्पत्ति है…”

इसी तरह के अन्य पोस्ट यहां, यहां, यहां, यहां, और यहां, देखे जा सकते हैं।

फैक्ट चेक

न्यूज़मोबाइल ने उपरोक्त पोस्ट की जाँच की और पाया कि तस्वीर को मॉर्फ (बदला) किया गया है।

तस्वीर को Google Reverse Image Search के माध्यम से डालने पर, हमें 23 अगस्त, 2020 को फेसबुक पर साझा की गई वास्तविक तस्वीर मिली। हालांकि, ‘रेलवे अडानी’ शब्द को वास्तविक तस्वीर में टिकट पर नहीं लिखा किया गया था।

इसके अलावा, हमने यह भी पाया कि एक अन्य सोशल मीडिया उपयोगकर्ता ने निजीकरण के कारण मूल्य वृद्धि की तुलना करते हुए असली रेलवे टिकट की तस्वीर साझा की थी।

ये भी पढ़े: फैक्ट चेक: क्या पीएम मोदी के साथ इस तस्वीर में नज़र आ रहे व्यक्ति अन्ना हजारे है? जानें सच

फेक बनाम असली तस्वीर की तुलना करने पर, हम स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि रेलवे टिकट की वायरल तस्वीर को मॉर्फ किया गया है।

फेक बनाम असली तस्वीर की तुलना करने पर, हम स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि रेलवे टिकट की वायरल तस्वीर को मॉर्फ किया गया है।

हालांकि, हमें 18 अगस्त, 2020 को रेलवे प्रवक्ता द्वारा एक ट्विटर पोस्ट मिला, जिसमें दावा किया गया कि स्टेशन पर आने वाले अनावश्यक लोगों को रोकने के लिए टिकट की कीमत 50 रुपये रखा गया है, जिसके परिणामस्वरूप COVID-19 से लड़ने के लिए सोशल डिस्टन्सिंग अनिवार्यता होगी।

इसलिए, उपरोक्त जानकारी की मदद से, यह स्पष्ट है कि प्रश्न में वायरल पोस्ट मोर्फेड है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram