Hindi Newsportal

पहले चरण में शाम 5 बजे तक असम में 71.62% और बंगाल में 77.99% मतदान हुए दर्ज: चुनाव आयोग

Election Commission / Twitter
0 601

पश्चिम बंगाल और असम विधानसभा चुनाव के पहले चरण के तहत मतदान का आज आगाज़ हो चूका है। बता दे आज बंगाल के 5 जिलों की 30 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाले जा रहे, जबकि असम की 47 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। वोटिंग सुबह सात बजे शुरू हुई है और शाम 6.30 बजे तक जारी रहेगी।

चुनाव आयोग के अनुसार, असम और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के पहले चरण में शाम 5 बजे तक क्रमशः 71.62% और 77.99% मतदान हुआ

पश्चिम बंगाल में पहले चरण के मतदान के दौरान जगह-जगह से हिंसा की खबरें आने का सिलसिला शुरू हो चूका है। इसी क्रम में बीजेपी और टीएमसी एक दूसरे पर चुनाव को प्रभावित करने का आरोप लगा रही है। सबसे पहले बता दे सालबोनी में सीपीएम में उम्मीदवार और मीडियापर्सन पर हमला हुआ। जिसके बाद इस घटना के आरोप में पुलिस ने 3 लोगों को पकड़ा है। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने मीडिया के वाहन तोड़े। कैमरा और माइक छीने गए। लाठी और पत्थर भी चलाए गए।

सोमेंदु का दावा – 50 से ज्यादा TMC वर्कर्स ने किया उनकी गाड़ी पर हमला।

बंगाल चुनाव के पहले चरण के मतदान के बीच शनिवार को BJP के शुभेंदु अधिकारी के भाई सोमेंदु अधिकारी की गाड़ी पर हमला हुआ। इस दौरान गाड़ी के ड्राइवर को चोटें आईं और गाड़ी भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दी गई। इस हमले में अधिकारी के भाई को तो चोटें नहीं आई पर आरोप है कि दो-तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं की पिटाई की गई। यह घटना दक्षिण कांथी की बताई जा रही है।

पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने TMC के आरोपों पर दी सफाई।

पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने टीएमसी के आरोपों पर कहा, ‘टीएमसी जानती है कि वह हार रही है और इसलिए ऐसा कह रही है। इस तरह की शिकायतों के लिए टीएमसी को चुनाव आयोग जाना चाहिए। टीएमसी और ममता बनर्जी दबाव में है और इसलिए वे ऐसी बात कर रहे हैं।’

इधर डेरेक ओ ब्रायन ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र।

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने चुनाव आयोग को लिखा, ‘नौ बजकर 13 मिनट पर कांठी दक्षिण और कांठी उत्तर सीट पर वोटिंग क्रमश: 18.47 फीसदी और 18.95 फीसदी थी। चार मिनट बाद 9 बजकर 17 मिनट पर मतदान संख्या घटकर 10.60 फीसदी और 9.40 फीसदी रह गई। इस तरह की विसंगति चुनाव आयोग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों की वास्तविकता पर सवाल उठाती है।’

इधर मतदान शुरू होने के पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम और पश्चिम बंगाल के मतदाताओं से रिकॉर्ड मतदान करने की अपील की।

प्रधानमंत्री मोदी ने असम और बंगाल के मतदाताओं से अपील की है कि सभी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करें। साथ ही उन्होंने युवाओं से भी खास अपील करते हुए कहा कि मैं सभी युवा मित्रों से मतदान करने का आग्रह करता हूं।

गृह मंत्री ने की निडर होकर करें मतदान करने की अपील।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी लोगों से निडर होकर मतदान में हिस्सा लेने की अपील की है। अमित शाह ने कहा, ”मैं पश्चिम बंगाल के प्रथम चरण के मतदाताओं से अपील करता हूं कि बंगाल के गौरव को पुर्नस्थापित करने के लिए अधिक से अधिक संख्या में निडर होकर मतदान करें। आपका एक वोट सुभाष चंद्र बोस, गुरुदेव टैगोर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे महापुरुषों की कल्पान की बंगाल की रचना को स्वीकार करेगा।”

नड्डा बोले- कोरोना से बचाव करते हुए करें मतदान।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा ने लोगों से मतदान करने और कोरोना संबंधी नियमों का पालन करने की अपील की। नड्डा ने ट्वीट किया, ”बंगाल विधानसभा चुनावों में आज पहले दौर की वोटिंग है। आपका वोट आपके और आपके राज्य के भविष्य की इबारत लिखेगा। सभी मतदाताओं से मेरा आग्रह है कि वे कोविड संबंधी सावधानियों को बरतते हुए, लोकतंत्र के इस पर्व में अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करें।”

जानें बंगाल का हाल ?

इस चरण में बंगाल में जहां 73 लाख से अधिक मतदाता 191 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। बता दें कि बंगाल में पहले चरण में 30 विधानसभा सीटों पर चुनाव है, जिनमें से अधिकतर सीटें एक समय नक्सल प्रभावित रहे जंगलमहल इलाके में आती हैं। वही इस पहले चरण में पुरुलिया की नौ, बांकुड़ा की चार, झाड़ग्राम की चार, पश्चिमी मेदिनीपुर की छह सीटों के अलावा पूर्वी मेदिनीपुर की अति महत्वपूर्ण सात सीटों पर मतदान होगा, जो भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी का गढ़ माना जाता है। सीटों के बटवारे की बात करे इन 30 सीटों में से टीएमसी तथा भाजपा ने 29-29 सीटों पर जबकि वाम-कांग्रेस-आईएसएफ गठबंधन ने सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं।

कैसे असम में होंगे चुनाव ?

असम की 126 सदस्यीय विधानसभा की 47 सीटों पर पहले चरण में मतदान होगा। इस चरण में अधिकतर सीटों पर सत्तारूढ़ भाजपा-एजीपी गठबंधन, कांग्रेस नीत विपक्षी महागठबंधन और नवगठित असम जातीय परिषद (एजेपी) के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होने के आसार हैं। वही असम में तीन चरणों में मतदान होगा। पहले चरण में 27 मार्च, दूसरे चरण में एक अप्रैल और तीसरे चरण में छह अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram