Hindi Newsportal

G-20 सम्मेलन: पीएम मोदी-ट्रम्प के बीच द्विपक्षीय मुलाकात; ईरान, 5 जी, रक्षा जैसे मुद्दों पर हुई चर्चा

0 415

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ओसाका में जी -20 शिखर सम्मेलन के औपचारिक उद्घाटन से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ द्विपक्षीय वार्ता की.

बैठक में 5 जी, रक्षा और व्यापार में सहयोग पर ध्यान देने के साथ आपसी हित के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा, “हम गहरे दोस्त बन गए हैं और हमारे देश कभी इससे ज्यादा करीब नहीं रहे हैं. मैं यकीन के साथ कह सकता हूं, हम सैन्य सहयोग के साथ साथ कई अन्य क्षेत्रों में एक साथ काम करेंगे. हम आज व्यापार पर चर्चा करेंगे.”

उनकी विशाल जीत के लिए पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए, ट्रम्प ने कहा, “आप इसके लायक हैं (आम चुनावों में  हुई जीत).  आपने चीजों को एक साथ बांधने में बहुत अच्छा काम किया है. मुझे याद है जब आपने पहली बार सत्ता संभाली थी, तब कई गुट थे और वे एक-दूसरे से लड़ रहे थे और अब वे साथ हैं. यह आपकी और आपकी क्षमताओं के लिए एक शानदार कामयाबी है.”

ALSO READ: G20 शिखर सम्मेलन: पीएम मोदी ने ओसाका में ट्रम्प, आबे के साथ की त्रिपक्षीय बैठक

“मुझे लगता है कि हमारे पास घोषणा करने के लिए कुछ बड़ा होगा. बहुत बड़ा व्यापार सौदा. राष्ट्रपति ट्रम्प ने  आगे कहा कि 5 जी के निर्माण, व्यापार के मामले में भारत के साथ बड़े स्तर पर सहयोग किया जाएगा.

विदेश सचिव विजय गोखले ने बैठक के बाद कहा,”S-400 समस्या पर चर्चा नहीं की गई थी. ईरान पर, प्राथमिक ध्यान इस बात पर था कि हम वहां स्थिरता कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं, क्योंकि अस्थिरता हमें कई तरह से प्रभावित करती है, न केवल ऊर्जा जरूरतों के मामले में, बल्कि खाड़ी में हमारे प्रवासी भारतीयों, खाड़ी में 8 मिलियन प्रवासी भारतीयों के संदर्भ में भी.”

भारत ने इससे पहले अमेरिका और जापान के साथ त्रिपक्षीय बैठक की. ब्रिक्स नेताओं की एक अनौपचारिक बैठक भी मौके पर हुई.

प्रधानमंत्री मोदी ने अनौपचारिक बैठक को संबोधित करते हुए कहा,“आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है. न केवल यह मासूमों की जान लेता है, बल्कि आर्थिक विकास और सांप्रदायिक सद्भाव को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है. हमें आतंकवाद और जातिवाद के समर्थन के सभी माध्यमों को रोकना होगा.”

भारत और मेजबान जापान के अलावा, अमेरिका, ब्रिटेन, यूरोपीय संघ, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, रूस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, मैक्सिको, कोरिया गणराज्य, दक्षिण अफ्रीका, सऊदी अरब, और तुर्की भी शुक्रवार को शुरू हुए 2019 जी 20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं.