Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: MP के रीवा में एक ही समुदाय के युगल की झड़प के वीडियो को सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक दावे के साथ किया गया वायरल, पढ़ें पूरा सच

0 491

फैक्ट चेक: MP के रीवा में एक ही समुदाय के युगल की झड़प के वीडियो को सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक दावे के साथ किया गया वायरल, पढ़ें पूरा सच

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, वीडियो एक प्रेमी जोड़े का है। वीडियो में देखा जा सकता है कि प्रेमी जोड़ा एक कच्ची सड़क से कहीं जा रहा था, लेकिन इसी दौरान युवक और युवती के बीच में आपस में किसी बात को लेकर कहा-सुनी हो गयी। जिसके बाद युवक अपनी प्रेमिका को बर्बरता पूर्वक पीटने लगता है।

इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह मामला लव जिहाद का है। जहां एक समुदाय विशेष से ताल्लुक रखने वाले प्रेमी युवक ने दूसरे समुदाय की प्रेमिका को बेरहमी से पीटा।

वायरल वीडियो को फेसबुक पर हिंदी भाषा के कैप्शन के साथ शेयर किया गया है। कैप्शन में लिखा गया है कि, मां – बाप , समाज* के लाख समझाने के बाद भी, मेरा अब्दुल वैसा नहीं है, कहने वाली हिन्दू लड़कियों के साथ कुछ ऐसा ही होता है , हां हो सकता है अंदाज़ कुछ अलग हो लेकिन होता ऐसा ही है

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा, युगल के दोनों सदस्य एक ही समुदाय से हैं। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ शेयर किए जा रहे दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजा। इस दौरान हमें वायरल वीडियो reddit.com नामक वेबसाइट पर 25 दिसंबर को छपे एक लेख में मिला।

 

लेख में वीडियो के साथ दिए गए कैप्शन से हमने जाना कि वायरल वीडियो मध्य प्रदेश के रीवा जिले का है। वीडियो की सटीक जानकारी के लिए हमने वेबसाइट पर दी गयी इस जानकारी के आधार पर गूगल पर और बारीकी से खोजना शरू कर दिया। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो से मेल खाती कुछ तस्वीरें दैनिक जागरण की वेबसाइट पर दिसंबर 25, 2022 को छपे लेख में मिली।

लेख के मुताबिक, वायरल वीडियो का मामला रीवा जिले के मऊगंज थाना क्षेत्र का है। जहां एक प्रेमिका अपने प्रेमी से शादी करके साथ चलने की बात कह रही थी तो इस बात पर प्रेमी नाराज हो गया जिसके बाद उनसे पहले तो अपनी प्रेमिका को जोर का थप्पड़ मारा फिर प्रेमिका को जमीन पर पटक दिया और फिर लात घूंसे चलाए।

मामले की सूचना जब पुलिस को मिली तो पुलिस ने इस मामले में युवक के खिलाफ धारा 151 के तहत मामला दर्ज कर लिया। लेख में बताया गया है कि युवक मऊगंज स्थित ढेरा गांव का निवासी है और युवती दूसरे गांव की है। लेकिन लेख में कहीं भी इनके नाम का जिक्र नहीं किया गया था।

इसके बाद हमने गूगल पर उनके नाम की जानकारी प्राप्त करने के लिए खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें आजतक की वेबसाइट पर इस मामले से संबंधित एक लेख मिला। जहां युवक के नाम की जानकारी दी गयी है। लेख में पुलिस के हवाले बताया गया है कि वायरल वीडियो में युवती को बर्बरता पूर्वक पीटते युवक का नाम पंकज त्रिपाठी है। लेख से मिली जानकारी के मुताबिक युवक का किसी समुदाय विशेष से ताल्लुक नहीं है।

 

इसक बाद हमने रीवा के एसपी ऑफिस पर सीधा संपर्क किया, जहां कार्यालय से हमें बताया गया कि इस मामले कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं युवक और युवती दोनों एक ही समुदाय से हैं।

वायरल वीडियो की पड़ताल के दौरान हमें मिले तथ्यों से हमने जाना कि इस मामले में किसी भी तरह का कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं। युवक का नाम पंकज त्रिपाठी है और उसका किसी अन्य समुदाय से की ताल्लुक नहीं। युवक और युवती दोनों एक ही समुदाय से हैं।