Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: छेड़छाड़ की घटना के वीडियो को सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक एंगल के साथ किया जा रहा है वायरल

0 4

फैक्ट चेक: छेड़छाड़ की घटना के वीडियो को सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक एंगल के साथ किया जा रहा है वायरल

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक भगवा गमछा धारी युवक को एक महिला व कुछ अन्य लोगों द्वारा बीच सड़क पर पीटते हुए देखा जा सकता है। इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि एक कथित संघी ने एक महिला को सर ढकने वाले कपड़े को हटाने के लिए कहा जिसके बाद उसकी पिटाई कर दी गयी, दावे के मुताबिक युवक को ने महिला से सर से कपड़ा हटाने के लिए इसलिए कहा क्योंकि उसे लगता है कि सिर्फ धर्म विशेष की महिलाएं ही सर ढकती हैं।

फेसबुक पर वीडियो शेयर कर कैप्शन में लिखा गया है कि इस संघी ने एक महिला को सिर ढकने वाले कपड़े को हटाने के लिए कहा, क्योंकि उसे लगता था कि केवल मुस्लिम महिलाएं ही ऐसा करती हैं। दूसरों से प्रतिक्रिया देखें।मीडिया और सरकार द्वारा सांघी का ब्रेनवॉश किया जाता है।

 

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक:

वीडियो के साथ वायरल हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल में हमने सबसे पहले वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें पत्रिका नामक वेबसाइट पर बीती जून 15 को मामले से संबंधित प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली।

 

रिपोर्ट के मुताबिक यह घटना मध्य प्रदेश के सागर जिले का है, जहां एक मनचले लड़के ने एक युवती से छेड़छाड़ की। जिसके बाद युवती ने मनचले लड़के को पीट दिया है। रिपोर्ट के हवाले युवती ने आरोप लगाया है कि, मनचले ने उसके साथ छेड़छाड़ तेहसील परिसर में की थी। युवती द्वारा जब छेड़छाड़ का विरोध किया गया तो मनचला वहाँ से भाग निकला। लेकिन, युवती ने भी उसे सबक सिखाने की ठानते हुए उसके पीछे चिल्लाते हुए दौड़ लगा दी। रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना छेड़छाड़ का है।

इसके बाद पुष्टि के लिए हमने गूगल पर बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें नई दुनिया नामक वेबसाइट पर भी खबर मिली। यह खबर जून 14, 2022 को छपी थी । खबर में बताया गया है कि यह मामला खुरई शहरी थाना का है। खबर में बताया गया है कि पुलिस मौके पर पहुंच गई, लेकिन तब तक आरोपित भाग चुका था। इस संबंध में थाना प्रभारी राघवेंद्र चौहान का कहना है कि पुलिस थाने में युवती ने शिकायत दर्ज कराने नहीं आई है और न ही मौके पर आरोपित मिला है। फिर भी सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपित की तलाश की जा रही है।

 

 

इसके साथ ही हमें यूट्यूब पर भी मामले से संबंधित एक वीडियो मिला। जहां इस पूरी घटना का वीडियो प्रसारित किया गया था। इस दौरान वीडियो में भी बताया गया कि एक मनचले द्वारा छेड़छाड़ करने पर युवती ने मनचले को पीट दिया। वीडियो में इस मामले में सांप्रदायिक एंगल होने की कोई बात नहीं कही गयी है।

इसके बाद हमने जिले के खुरई थाना में फ़ोन पर सीधा संपर्क किया। जिसके बाद उन्होंने हमें बताया कि यह मामला 10 से 11 दिन पहले का है। उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर कोई FIR दर्ज नहीं की गयी है। उन्होंने कहा कि यह मामला छेड़छाड़ का है, इस मामले में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है।

पड़ताल के दौरान हमें उपरोक्त मिले तथ्यों से पता चला कि वायरल वीडियो मध्य प्रदेश के सागर जिले से है, इस मामले में किसी भी प्रकार का कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है।