Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: पीएम मोदी द्वारा मज़ार पर चादर चढ़ाने वाला यह वीडियो चार साल पुराना है, राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ से इसका नहीं है कोई संबंध

0 344

फैक्ट चेक: पीएम मोदी द्वारा मज़ार पर चादर चढ़ाने वाला यह वीडियो चार साल पुराना है, राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ से इसका नहीं है कोई संबंध

 

देश में लोक सभा चुनाव नजदीक हैं, ऐसे में पक्ष और विपक्ष दोनों ने ही आने वाले वाले चुनावों के लिए अपनी-अपनी कमर कस ली है। बात अगर कांग्रेस के सीनियर नेता राहुल गांधी की करें तो पिछले 37 दिनों से वह भारत जोड़ो यात्रा की मुहीम चला रहे हैं। वहीं केंद्र की सत्ता पर काबिज भाजपा भी हिमाचल, यूपी, बिहार, गुजरात, पश्चिम बंगाल और देश के अलग-अलग राज्यों में ताबड़-तोड़ रैलियां कर रही हैं। ऐसे में इन दिनों सोशल मीडिया पीएम मोदी एक वीडियो राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो’ यात्रा से जोड़ कर शेयर किया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी का यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, इस वीडियो में पीएम मोदी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ एक मज़ाज पर चादर चढ़ाते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर इन दिनों शेयर कर दावा किया जा रहा है कि भाजपा अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से डर गयी है, इसलिए अब पीएम मोदी आने वाले चुनावों के मद्देनजर मज़ार पर चादर चढ़ा रहे हैं।

फेसबुक पर वायरल वीडियो को शेयर कर कैप्शन में लिखा गया है कि “यह मजार पर चादर चढा रहे हैं देख लो राहुल गांधी जी यात्रा का असर हो रहा है अंधभक्त देखें और समझे यह सब हिन्दू मुस्लिम के नाम पर लडाने वालो के चक्कर मे भाईचारा खराब ना करें

 

फेसबुक का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक : 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि चार साल पुराना है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को देखने पर हमें इसके पुराने होने की आशंका हुई। जिसके बाद हमने पड़ताल आरम्भ की। इस दौरान हमने वीडियो को InVid टूल की सहायता से कुछ कीफ्रेम में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से गूगल पर खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो से मेल खाती पीएम मोदी की एक तस्वीर प्रधानमंत्री मोदी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर जून 24, 2018 को अपलोड किए एक पोस्ट में मिली।

पोस्ट में तस्वीर के कैप्शन में दी गयी जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी संत कबीर दस की निर्वाण स्थली पर यह चादर चढ़ा रहे हैं। पोस्ट में प्राप्त इसी जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें वायरल वीडियो न्यूज़ एजेंसी ANI के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर भी मिला। बता दें यूट्यूब पर वायरल वीडियो को जून 28, 2018 को अपलोड किया गया था।

पड़ताल के दौरान उपरोक्त मिले तथ्यों से हमें पता चला कि वायरल वीडियो साल 2018 के दौरान का है। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा से इस वीडियो को कोई संबंध नहीं है।