Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: क्या भारतीय रेलवे ने 31 मार्च तक रद्द की सभी पैसेंजर ट्रेनें? पुरानी खबर हो रही है वायरल, जानिए पूरा सच

0 526

फैक्ट चेक: क्या भारतीय रेलवे ने 31 मार्च तक रद्द की सभी पैसेंजर ट्रेनें? पुरानी खबर हो रही है वायरल, जानिए पूरा सच

 

सोशल मीडिया पर ABP न्यूज़ चैनल पर प्रसारित एक ब्रेकिंग खबर की वीडियो क्लिप तेजी से वायरल हो रही है। वीडियो क्लिप में ब्रेकिंग के माध्यम से जानकारी दी जा रही कि भारतीय रेलवे ने कोरोना वायरस के चलते सभी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है। क्लिप में बताया जा रहा है कि रेलवे ने सभी ट्रेनों को 31 मार्च तक के लिए रद्द किया है।

फेसबुक पर वायरल क्लिप को अंग्रेजी भाषा के कैप्शन के साथ शेयर कर लिखा है कि, Indian Railways Cancels All Passenger Trains Till March 31′ . 

कैप्शन का हिंदी अनुवाद- भारतीय रेलवे ने 31 मार्च तक सभी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है।  

 

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल क्लिप हालिया दिनों की नहीं बल्कि साल 2020 के दौरान की है।

भारतीय रेलवे द्वारा एक बार फिर से सभी पैसेंजर ट्रेनों की खबर से हमें दंग रहे गए। इसलिए वायरल वीडियो क्लिप में दिखाई जा रही खबर की जानकारी के लिए हमने पड़ताल की। अब चूंकि भारतीय रेलवे द्वारा सभी पैसेंजर ट्रेनों को अगले 2 महिले के लिए रद्द करना एक बड़ी खबर है। इसलिए यदि ये खबर सच हैं तो ज्यादा तर सभी मीडिया एजेंसियों ने इसे कवर किया होगा। इसलिए हमने सबसे पहले कुछ संबंधित कीवर्ड्स से गूगल पर खोजना शुरू किया।

खोज के दौरान हमें गूगल पर वायरल वीडियो से संबंधित वर्तमान की कोई खबर नहीं मिली, गूगल पर मिले परिणामों से मुताबिक यह खबर हालिया दिनों की नहीं बल्कि साल 2020 के दौरान की है जब भारत में कोरोना अपने चरम पर था।

गूगल पर मिले परिणामों से वायरल खबर की ठोस जानकारी न मिलने पर हमने भारतीय रेलवे की वेबसाइट को भी खंगाला, यदि भारतीय रेलवे ने सच में सभी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द किया है तो रेलवे ने इसे लेकर कोई अडवाइज़री जरूर जारी की होगी। इसलिए हमने भारतीय रेलवे की वेबसाइट को खंगाला। यहां भी हमने पाया कि रेलवे ने हाल ही में ऐसी कोई अडवाइज़री जारी नहीं की है।

 

अब सटीक जानकारी के लिए हमने ABP न्यूज़ के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर वायरल खबर को खंगालना शुरू किया। यहाँ हमने जाना कि वायरल वीडियो क्लिप वाली खबर हालिया दिनों की बल्कि साल 2020 के दौरान की है। जब कोरोना वायरस अपने चरम पर था। बता दें यूट्यूब पर इस खबर के वीडियो को मार्च 22, 2020 को अपलोड किया गया था।

 

पड़ताल के दौरान हमें मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल क्लिप वाली खबर हालिया दिनों की नहीं बल्कि साल 2020 की है। उस दौरान भारत में कोरोना वायरस की पहली लहर आयी थी और भारत में पहली बार पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था।