Hindi Newsportal

COVID-19 के बाद अब मंकीपॉक्स बना दुनिया के लिए खतरा, सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित

0 489

नई दिल्ली: COVID-19 के खतरे के बाद अब मंकीपॉक्स चिंता की वजह बन गया है. दुनियाभर में लगातार बढ़ रहे मंकीपॉक्स के मामलों के चलते वैज्ञानिकों के द्वारा मंकीपॉक्स को वैश्विक चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया गया है.

 

यह घोषणा विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख द्वारा 32 गैर-स्थानिक देशों में मंकीपॉक्स वायरस के बढ़ते मामलों के कारण अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियम आपातकाल (IHRE) की घोषणा के कुछ दिनों बाद हुई है.

 

वर्ल्ड हेल्थ नेटवर्क (WHN) द्वारा मंकीपॉक्स को एक सार्वजनिक आपातकाल के रूप में नामित करना इंगित करता है कि यह प्रकोप किसी एक देश या क्षेत्र तक सीमित नहीं है और सामुदायिक प्रसारण को रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई द्वारा संबोधित किया जाना चाहिए.

 

दुनिया भर में 58 देशों में मंकीपॉक्स की वृद्धि दर्ज की गई है, आंकड़ों की बात करें तो 58 देशों में अबतक करीब 3,417 मंकीपॉक्स मामलों की पुष्टि हुई, और कई महाद्वीपों में सप्ताह दर सप्ताह मामलों में वृद्धि दर्ज की जा रही है.

 

मंकीपॉक्स की चिंता उन बच्चों में संक्रमण फैलने के कारण और भी अधिक है, जो प्रमुख COVID प्रकोप के दौरान बच गए थे.