Hindi Newsportal

मुंबई में रिटायर्ड नेवी अफसर से मारपीट के बाद बेटी बैठी धरने पर, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी की मदन शर्मा से बात

File Image
0 392

महाराष्‍ट्र की राजधानी मुंबई में अभी कंगना रनौत के ऑफिस में बीएमसी के द्वारा की गई तोड़फोड़ का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि एक दूसरा मामला सामने आया उठ खड़ा हुआ है. इस मामले में रिटायर्ड नेवी मदन लाल शर्मा के द्वारा एक कार्टून शेयर किया गया था. इस कार्टून से शिवसेना के कुछ सैनिक इस कदर नाराज़ हो गए की उन्होंने रिटायर्ड नेवी मदन लाल शर्मा की जमकर पिटाई की। मामले का वीडियो सामने आने के बाद इस मसले ने तूल पकड़ लिया है।

ये था व्हाट्सप्प पर साझा कार्टून में।

दरअसल पीड़ित मदन शर्मा (65) कांदिवली के निवासी है, जिन्होंने अपनी सोसायटी के सदस्यों को व्हाट्सएप ग्रुप पर एक ऐसा कार्टून साझा किया था, जिसमें ठाकरे को कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार की तस्वीरों के सामने हाथ जोड़े दिखाया गया.

देखे मारपीट का वायरल वीडियो।

आंखों में चोट आई, पुलिस में शिकायत दर्ज कराई

शर्मा को हालांकि गंभीर चोटें नहीं आई, लेकिन उनकी आंखों में चोट आने के कारण वह लाल और सूज गई हैं. हमले के बाद वह जल्द ही घर पहुंचने में कामयाब रहे और फिर शिकायत दर्ज करने के लिए पुलिस स्टेशन गए. इस घटना को लेकर कई भाजपा नेताओं ने सरकार की निंदा की. अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (उत्तर) दिलीप सावंत ने कहा कि कदम के अलावा, अन्य ज्ञात और अज्ञात हमलावरों पर आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किए गए हैं.

इन लोगों ने की थी मारपीट।

नौसेना के पूर्व अधिकारी पर हमला करने के मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया था. पहले समता नगर पुलिस ने शिवसेना के दो कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार लोगों में एक शिवसेना का शाखा प्रमुख कमलेश कदम भी है. कमलेश कदम के अलावा शिवसेना के दूसरे का कार्यकर्ता का नाम है संजय मांजरे है.

ये भी पढ़े : IPL 2020: आठ टीमों के बीच होंगे 56 मैच, 46 दिन तक चलेगा 13वां सीजन , यहां देखें पूरा शेड्यूल

शिवसेना कार्यकर्ताओं को 14 घंटे के अंदर मिली जमानत ।

मुंबई में नौसेना के पूर्व अधिकारी मदन शर्मा से मारपीट मामले में गिरफ्तार सभी आरोपियों को जमानत मिल गई है. सभी आरोपियों को 5 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत मिली है. कोरोना महामारी के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए यह जमानत दी गई है.

बेटे ने कहा – महाराष्ट्र में नहीं है सुरक्षित।

मदन शर्मा के बेटे सन्नी शर्मा का कहना है कि इन गिरफ्तारियों से हम संतुष्ट नहीं हैं. हम महाराष्ट्र में सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं. महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाना चाहिए और दोबारा चुनाव होना चाहिए. सन्नी शर्मा ने कहा कि मेरे पिता पूर्व नौसैनिक हैं लेकिन कायर भीड़ ने उन्हें निशाना बनाया.

घटना के बाद बेटी का विरोध।

इस घटना के विरोध में उन बेटी शीला शर्मा और महाराष्‍ट्र बीजेपी के नेता अतिरिक्‍त पुलिस कमिश्‍नर के ऑफिस के सामने धरने पर बैठ गए हैं.

इधर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी मदन शर्मा से इस मामले के बाद फ़ोन पर चर्चा की है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram