Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: कोरोना महामारी के दौरान विचलित करने वाली इस तस्वीर का जानें सच

0 1,116

कोरोना संकट के दौरान हाल ही में बिहार और उत्तरप्रदेश से गंगा नदी में तैरते हुए शव और गंगा के ही किनारे दफनाए गए शवों की खबर सामने आ रही है। अब ऐसे में एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें नदी के किनारे पड़े एक शव को एक कुत्ते द्वारा कुतरते हुए देखा जा सकता है।

पोस्ट के कैप्शन में कहा गया है कि यह तस्वीर हाल की है।

एक फेसबुक यूजर ने इस तस्वीर को साझा करते हुए लिखा – ‘मोदी जी को समुन्दर किनारे पड़ा हुआ कचरा नज़र आगया लेकिन गंगा किनारे पड़ी लाशें नज़र नहीं आ रही’।

 

 

फेसबुक और ट्विटर पर बहुत सारे यूज़र्स ने इस तस्वीर को साझा करते हुए यही दावा पेश किया है कि ये तस्वीरें हाल ही में कोरोना संकट की है।

ऐसे ही पोस्ट आप यहाँ, यहाँ और यहाँ देख सकते है।

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल ने इस पोस्ट की जांच की और पाया की ये फेक है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक: सोशल मीडिया पर उड़ी मेजर जनरल जीडी बख्शी की मौत की झूठी अफवाह

रिवर्स इमेज सर्च की मदद से हमें यह तस्वीर गेटी इमेजेज की वेबसाइट पर मिली।

19 अप्रैल, 2012 को अपलोड की गई तस्वीर का कैप्शन था – “भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में वाराणसी में एक अज्ञात शव, 19 अप्रैल, 2012। हिंदुओं का मानना ​​​​है कि एक व्यक्ति का अंतिम संस्कार वाराणसी में गंगा नदी के किनारे करने पर मोक्ष प्राप्त होता है। वाराणसी दुनिया के सबसे पुराने बसे हुए शहरों में से एक है, और लाखों हिंदू तीर्थयात्री यहां गंगा के किनारे स्नान और पूजा के लिए सालाना इकट्ठा होते हैं। (फोटो देबज्योति दास/नूरफोटो द्वारा गेटी इमेज के माध्यम से)”

 

स्पष्ट रूप से, वायरल छवि नौ साल से अधिक पुरानी है और इसका कोरोना महामारी से कोई सम्बन्ध नहीं है।

हमने वायरल पोस्ट में किए जा रहे दावे की पुष्टि के लिए मीडिया रिपोर्टों को भी स्कैन किया, लेकिन हमे ऐसी कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।

हाल ही में, NewsMobile ने एक ऐसे ही पोस्ट को खारिज किया था, जिसमें 2008 की एक तस्वीर को अभी का बता करे साझा किया जा रहा था।

fact check: old picture of dog scavenging a body floating in water revived amid covid-19 surge

इतनी जानकारी से हम दावा कर सकते है कि वायरल तस्वीर पुरानी है और इस भ्रामक तरीके से साझा किया जा रहा है।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें